America के मूल समुदायों तक पहुंचा covid-19 का टीका

Covid 19
अमेरिका (वेबवार्ता)। कोरोनो वायरस (covid-19) के टीके की पहली खुराक न्यू मैक्सिको के रेगिस्तानी इलाके से लेकर सिएटल के बाहर बसी मछुआरा जनजाति तक सभी मूल अमेरिकी समुदायों को दी जा रही है।

ऐसा करने के पीछे संघीय सरकार और राज्यों का लक्ष्य इन कम आबादी वाले समुदायों की रक्षा करना है। संघीय सरकार की इंडियन हेल्थ सर्विस (IHS) द्वारा बड़े पैमाने पर एक ‘लॉजिस्टिक ऑपरेशन’ चलाया जा रहा है, जिसका लक्ष्य देश भर में संप्रभु स्वदेशी राष्ट्र क्लीनिक और ‘ऑफ-रिज़र्वेशन नैटिक’ अमेरिकियों की सेवा करने वाले शहरी क्लीनिकों के स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों का टीकाकरण करना है।

एजेंसी ने शुरुआत में ‘फाइजर’ और जर्मनी की कम्पनी ‘बायोएनटेक’ के 22,000 टीकों (covid-19) को इस अभियान के लिए अनुमति दी है, जो एरिजोना के नवाजो नेशन तथा न्यू मैक्सिको के विशाल हिस्सों और फीनिक्स जैसे शहरी स्थानों पर वितरण केन्द्रों पर सोमवार को पहुंचे, जहां मूल समुदायाों के अमेरिकियों की देखभाल करने वाले सैकड़ों स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों को बृहस्पतिवार को टीका लगाया गया।

लेकिन कई जनजातियों ने राज्य स्वास्थ्य एजेंसियों के माध्यम से टीका वितरण का अलग मार्ग चुना, जो कई मामलों में जनजातीय समुदायों के साथ अधिक स्थायी और भरोसेमंद संबंध स्थापित करते हैं।

यहां ‘एकोमा पेब्लो’ जैसी छोटी जनजातियों का टीकाकरण किया जा रहा है, जो न्यू मैक्सिको रेगिस्तान में अपने ‘‘स्काई सिटी’’ के लिए जाना जाता है। वहीं, वाशिंगटन राज्य प्रायद्वीप पर बसे 5,000 सदस्यों की एक जनजाति,‘लूमी नेशन’ में भी 300 खुराक के साथ बृहस्पतिवार को टीकाकरण (covid-19) शुरू किया गया।

‘लूमी नेशन’ के एक सदस्य और जन स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक निदेशक डॉ. डकोटा लेन ने टीकाकरण पर कहा, ‘‘ हम इतने खुश हैं कि मैं इसे शब्दों में बयां नहीं कर सकता।’’वह स्वयं टीकाकरण के लिए लाइन में खड़े थे।