लाहौर: भाई तारू सिंह जी गुरुद्वारे को मस्जिद बनाने की कोशिश, भारत ने की कार्रवाई की मांग

New Delhi: Bhai Taru Singh ji Gurudwara: पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदायों के खिलाफ घटनाएं जारी हैं। इस्लामाबाद में हिंदू मंदिर बनने पर विवाद के बाद अब लाहौर के नौलखा बाजार में गुरुद्वारा शहीदी अस्थान को मस्जिद में बदलने की कोशिश की गई है।

इसे (Bhai Taru Singh ji Gurudwara) लेकर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने जानकारी दी है कि भारत ने इस पर पाकिस्तान से शिकायत की है और कड़ा विरोध दर्ज कराया है। साथ ही जल्द ही कड़े कदम उठाने की मांग की गई है।

श्रीवास्तव ने बताया है, ‘लाहौर के नौलखा बाजार में भाई तारू सिंह जी के शहीदी स्थल पर मस्जिद शहीद गंज के नाम दावा किए जाने की घटना पर पाकिस्तान के उच्चायोग में सोमवार को कड़ा विरोध दर्ज कराया गया है।’ इसे मस्जिद बनाए जाने की कोशिश की जा रही है।

भारत ने जाहिर की है चिंता

मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि गुरुद्वारा शहीदी अस्थान भाई तारू जी एक ऐतिहासिक गुरुद्वारा है जहां भाई तारू जी ने 1745 में सर्वोच्च बलिदान दिया था। गुरुद्वारा सिखों के लिए एक सम्मानित और पवित्र स्थान है। इस घटना को लेकर भारत चिंतित है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक सिख समुदाय के लिए न्याय की मांग की गई है। भारत ने अपनी चिंता जाहिर की है।

कड़े कदम उठाने की मांग

श्रीवास्तव ने बताया है कि भारत ने कड़े शब्दों में इस घटना पर अपनी चिंता जताई है और पाकिस्तान से मामले की जांच के लिए कहा है। साथ ही फौरन कड़े कदम उठाने के लिए भी कहा है। पाकिस्तान से अल्पसंख्यक समुदायों की सुरक्षा का ध्यान रखने, उनके धार्मिक अधिकारों और सांस्कृतिक विरासत की रक्षा करने के लिए कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *