शनिवार के दिन आप भी चढ़ाते है शनिदेव को तेल तो इन 5 बातों का रखें ध्यान, दरिद्रता होगी दूर

Webvarta Desk: सभी ग्रहों के अधिपति शनिदेव (Lord Shani) न्याय के देवता हैं। शनिवार (Saturday Tips) का दिन शनिदेव (Shanidev) को समर्पित है इसलिए इस दिन शनि महाराज की विशेष पूजा का प्रावधान है।

यदि कुंडली में शनि अशुभ हो तो शनिवार के दिन शनिदेव (Lord Shani) को तेल अर्पित करना चाहिए। लेकिन शनि को तेल चढ़ाते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखनी चाहिए। अगर इन बातों को ध्यान में रखते हुए शनिदेव को तेल चढ़ाया जाए तो वे भक्त की दुर्भाग्य से रक्षा करते हैं…

पहली बात

शनिदेव को लोहे के बर्तन से ही तेल चढ़ाना चाहिए। कांच, तांबा या स्टील की कटोरी से तेल चढ़ाने पर पूरा लाभ नहीं मिलता।

दूसरी बात

शनिदेव को तेल अर्पित करते समय शुद्धता का ध्यान भी रखना चाहिए। बाहर से तेल खरीदने की बजाय अपने घर से तेल लेकर जाएंगे तो ज्यादा शुभ रहेगा।

तीसरी बात

तेल चढ़ाने से पहले तेल में अपना चेहरा जरूर देखें। ऐसा करने से शनिदोष से मुक्ति मिल सकती है।

चौथी बात

शनिदेव को तेल चढ़ाते समय शनिदेव के पैरों के दर्शन करना चाहिए। ऐसा करते हुए तेल अर्पित करना बहुत शुभ माना जाता है।

पांचवीं बात

शनिदेव को तेल अर्पित करने के साथ ही अपनी इच्छा अनुसार मंदिर या किसी जरूरतमंद व्यक्ति को दान जरूर करें।