Wednesday , 29 January 2020
arvind-kejriwal-releases-5-year-report-card-of-delhi-govt

अपनी जिम्मेदारी समझकर 5 साल का जारी कर रहे हैं रिपोर्ट कार्ड : केजरीवाल

-आप का रिपोर्ट कार्ड: 26 से घर-घर हस्ताक्षर अभियान

नई दिल्ली, 24 दिसंबर (इरशान सईद)। दिल्ली विधानसभा के अगले वर्ष होने वाले चुनाव में एक बार फिर आम आदमी पार्टी (आप) की विजय पताका फिर से लहराने में जुटे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को अपनी सरकार के पांच साल के कामकाज का ब्योरा पेश करते हुए 26 दिसंबर से दरवाजे-दरवाजे जाकर हस्ताक्षर अभियान शुरु करने की घोषणा की है। श्री केजरीवाल ने अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ पार्टी के राऊज एवेन्यू स्थित कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन में पांच साल का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए कहा, “जनतंत्र के अंदर जनता मालिक हाेती है, चुनी हुई सरकार जनता की सेवक होती है। अपने सेवक से काम का हिसाब मांगना मालिक का हक है। इसलिए आज हम पांच साल के काम का हिसाब दिल्ली की जनता के समक्ष रख रहे हैं।”

अमित शाह का बयान अनुचित और संविधान के विपरीत है : जमीयत

रिपोर्ट कार्ड जारी करते हुये सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जनतंत्र में जनता मालिक होती है। आज से 5 साल पहले नई राजनीति की शुरूआत की थी। एक नई पार्टी को 70 में से 67 सीटों पर जीत मिली थी। पार्टी ने इतनी सीट हासिल कर इतिहास रचा था। जनता को लगा कि ये लड़के ईमानदार हैं। उनकों एक मौका मिलना चाइये। इसलिये हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने काम का रिपोर्ट कार्ड पेश करें। इसलिये इस रिपोर्ट कार्ड को आज जारी कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि नई-नई पार्टी को जनता ने 54 फीसदी वोट दिया था। अन्ना आंदोलन के बाद लोगों ने हमे इतनी बड़ी जिम्मेदारी दे दी। आज 5 साल बाद मैं जनता को कह सकता हूं वोट के हिसाब से काम भी किया। उन्होंने यह भी कहा कि हमारे कुछ मुख्य काम भी छूट गए हैं। उन्होंने सभी विभागों जिन पर सरकार ने बड़े स्तर पर काम किया उनको सिलसिलेवार जिक्र मीडिया के समक्ष भी किया। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में किये गये बड़े कार्यों का जिक्र करते हुये कहा कि 70 साल में इस क्षेत्र का कबड़ा कर दिया गया। हमनें 5 साल में शिक्षा क्षेत्र में क्रांतिकारी काम किया। दिल्ली में पैदा होने वाले हर बच्चे के लिए शिक्षा का इंतज़ाम कर दिया। हमने शिक्षा का बजट 3 गुना किया किया और 20 हज़ार क्लास रूम बनाये जबकी पुरानी सरकारों ने 70 सालों में 17000 क्लास रूम बनाये। सरकारी स्कूलों के नतीजे प्राइवेट स्कूल से बेहतर हुए हैं।

 इसके अलावा दिल्ली सरकार ने 5 साल के दौरान में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़े स्तर पर काम किया और इसकी बदलाव की दिशा में बहुत अहम कदम उठाये। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में दिल्ली के हर व्यक्ति के लिए अच्छे और फ्री इलाज का इंतज़ाम किया है। स्वास्थ्य का बजट 3500 से बढ़ा कर 7500 करोड़ कर दिया। मोहल्ला क्लिनिक खोले गये और सरकारी अस्पतालों का कायापलट किया। डेंगू के खिलाफ अभियान चलाया गया। जिसका एक बड़ा मैसेज आम लोगों के बीच गया जिसकी वजह से इस साल डेंगू के इतनी संख्या में मरीज नहीं आ सके।

केजरीवाल ने बताया कि बिजली के क्षेत्र में भी 5 सालों में बड़ा क्रांतिकारी काम किया गया है। दिल्ली पूरे देश में इकलौता शहर है जहां 24 घंटे बिजली आती है, जब हम आये तब कई घंटे के कट लगते थे। वहीं 32 लाख उपभोक्ताओं का बिजली का बिल 0 आ रहा है। इसके अलावा पानी की स्थिति को इतना बेहतर किया जोकि 70 सालों में आज तक नहीं हो सकी। पूर्व की सरकारों ने इस तरफ ध्यान देने की जरूरत ही महसूस नहीं की। उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार बनी पानी का बहुत बुरा हाल था। 58 फीसदी जगहों पर ही पानी पाइप लाइन से आता था। लेकिन अब 93 फीसदी में अपने आप आने लगा है। देश का इकलौता शहर है जहां 20 हज़ार लीटर पानी फ्री आता है।

 दिल्ली के बजट पर सीएम केजरीवाल ने कहा कि जब हमारी सरकार बनी तब दिल्ली का बजट 30 हज़ार करोड़ था अब वो बढ़ कर 60 हज़ार करोड़ हो गया। दिल्ली के लोगों की वजह से यह सभी हो पाया है। लोग दिल से टैक्स देते है। भारत के नियंत्रक महालेखा परीक्षक यानी सीएजी ने हमारा 5 साल का ऑडिट किया और कहा की यह सरकार मुनाफे में चल रही है। दिल्ली में न्यूनतम मजदूरी पर बोलते हुये सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सबसे अधिक न्यूनतम मजदूरी हमारी सरकार में मिलती है। इसके अलावा महिला सुरक्षा पर वक्तव्य देते हुये सीएम केजरीवाल ने कहा कि महिला सुरक्षा के लिए 1.40 लाख कैमरे लग गए हैं और 1.40 लाख लगने शुरू हो गये हैं। महिला सुरक्षा की दिशा में बड़ा कदम उठाते हुये उन्होंने कहा कि हमने महिलाओं के लिए फ्री बस सेवा शुरू की है। वहीं 2.10 लाख नई स्ट्रीट लाइट लगने जा रही हैं।

 उन्होंने यह भी बताया कि दिल्ली की कच्ची कॉलोनियों पर भी सरकार ने तेजी के साथ इन पांच सालों में काम किया है। उन्होंने बताया कि कच्ची कालोनियों पर बात करना आसान है। रामलीला मैदान से भी बात करते हैं, पर काम नहीं करते। दोनों पार्टियों ने धोखा दिया। 8000 करोड़ कच्ची कोलोनियो में खर्च किये हैं। 1797 कॉलोनियों में से 1281 कॉलोनियों में सड़क निर्माण, 1130 कॉलोनियो में सीवर लाइन बिछाई गई। उन्होंने यह भी बताया कि ट्रांसपोर्ट सिस्टम को दुरूस्त करने का काम भी किया जा रहा है। नई बसे आने में देर हुई पर अब हर सप्ताह बसें आने लगी हैं। डोर स्टैप डिलीवरी योजना शुरू करने के बाद 100 तरह की सेवाएं आम जनता को घर बैठे ही मिल रही हैं। इसके अलावा सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत 5 हज़ार लोगों को तीर्थ यात्रा कराई गई। सड़क हादसो में घायल लोगों को समय पर सहायता और चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिये शुरू की गई फरिश्ते स्कीम से लोगों की जान बचाई जा रही है। वहीं सरकार ने दिल्ली में वाईफाई के हॉट स्पॉट लगाकर मुफ्त इंटरनेट सेवा देना शुरू कर दिया है। कुछ जगहों पर हॉट स्पॉट लगा दिये गये हैं जोकि आने वाले समय में पूरी दिल्लीभर में लगेंगे।

2 comments

  1. I am in fact pleased to glance at this web site posts which includes lots of helpful facts, thanks for
    providing these statistics.

  2. I aam not sure where you are getting your information,
    butt good topic. Ineeds to spend some time
    learning much more or understanding more. Thanks for great information I was looking
    for this info for mmy mission.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *