Women’s Day 2021: ”इंग्लिश विंग्लिश’ से थप्पड़’ तक, फिल्मों में महिलाओं के संघर्ष को करेंगे सलाम

Webvarta Desk: Women’s Day 2021: वर्तमान समय में महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से पीछे नहीं हैं बल्कि उनके साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही हैं। वहीं, बॉलिुवड इंडस्ट्री में पहले की अपेक्षा महिला प्रधान फिल्में (Female Centric Film Realize Real Power Of Women) बन रही हैं और बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं।

हर साल 8 मार्च (8 March) को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) मनाया जाता है। हम आपको बताते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर (Women’s Day 2021) इन फिल्मों को जरूर देखना चाहिए।

​थप्पड़

साल 2020 में रिलीज हुई तापसी पन्नू की फिल्म ‘थप्पड़’ को अनुभव सिन्हा ने डायरेक्ट किया था। फिल्म की कहानी घरेलू हिंसा को लेकर है। फिल्म में दिखाया जाता है कि पति व परिवार की जिम्मेदारी संभालते संभालते कैसे एक महिला खुद को खो देती है। इस बीच अगर उनसे एक थप्पड़ भी मारा जाए तो वह हिंसा में आता है। ये फिल्म महिलाओं को मारपीट जैसे अपराध के बारे में चेताती है। फिल्म में तापसी पन्नू के अलावा दीया मिर्जा, ग्रेसी गोस्वामी, अंकुर राठी, मानव कौल, कुमुद मिश्रा, तनवी आजमी, रत्ना पाठक शाह और राम कपूर भी महत्वपूर्ण भूमिका में हैं।

​इंग्लिश विंग्लिश

बॉलिवुड इंडस्ट्री की दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी की फिल्म ‘इंग्लिश विंग्लिश’ में एक ऐसी महिला का किरदार निभाया जो पूरी जिंदगी अपने बच्चों और पति के लिए समर्पित रही। लेकिन बदले में जो इज्जत उसे मिलनी चाहिए थी वो उसे नहीं मिली। अंग्रेजी न आने के कारण अक्सर उसका पति और बच्चे मजाक उड़ाते थे और उन्हें काम आंकते थे। फिल्म में दिखाया गया है कि किस तरह वो अंग्रेजी सीखती हैं और अपने आपको साबित कर देती हैं। साल 2012 में रिलीज हुई इस फिल्म का डायरेक्शन गौरी शिंदे ने किया था। फिल्म में श्रीदेवी के साथ आदिल हुसैन, फ्रांसीसी ऐक्टर मेहदी नेबबू और प्रिया आनंद नजर आए थे।

क्वीन

कंगना रनौत की फिल्म ‘क्वीन’ को लोगों ने काफी पसंद किया है। फिल्म में मॉडर्न जमाने की एक सीधी-सादी लड़की की एक खूबसूरत कहानी है, जो पैरंट्स की मर्जी से शादी करना, पति की मर्जी से अपने जीवन के फैसले लेने को ही अपना धर्म मानती है। फिल्म में मजेदार ट्वीस्ट तब आता है, जब लड़का शादी करने के लिए मना कर देता है तो लड़की अकेले हनीमून पर निकल जाती है। फिल्म में कंगना रनौत के साथ राजकुमार राव हैं। साल 2013 में आई इस फिल्म को विकास बहल ने डायरेक्ट किया था।

पिंक

अनिरुद्ध रॉय चौधरी के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘पिंक’ साल 2016 में रिलीज हुई थी। फिल्म में तापसी पन्नू ने महिला सशक्तिकरण का नारा उठाया था। उन्होंने शारीरिक संबंध को लेकर सहमति पर खुलकर बात रखी और यह एहसास दिलाया कि ‘न का मतलब सिर्फ न ही होता है’। फिल्म में उन्होंने हर तरह की मुसीबतों का सामना किया लेकिन आखिर में जीत उकी होती है। फिल्म तापसी पन्नू के साथ अमिताभ बच्चन, अंगद बेदी, कीर्ति कुल्हारी, पीयूष मिश्रा, विजय वर्मा थे।

अज्जी

साल 2017 में आई डायरेक्टर देवाशीष मुखर्जी की फिल्म ‘अज्जी’ महिला दिवस के लिए काफी प्रासंगिक है। फिल्म में रेप और बदले की कहानी दिखाई गई है। ‘अज्जी’ मुंबई की झुग्‍गी-झोपड़ी में रहने वाली एक बुजुर्ग महिला की कहानी है, जो अपनी पोती मंदा के साथ यहां रहती है। एक रात एक नेता का बेटा दस साल की बच्‍ची का रेप करता है। अज्‍जी को अपनी पोती के लिए इंसाफ नहीं मिलता है। फिर अज्‍जी खुद अपनी पोती के लिए इंसाफ लेने निकल पड़ती है। फिल्म में सुषमा देशपांडे, शरवानी सूर्यवंशी, अभिषेक बनर्जी, सादिया सिद्दीकी, विकास कुमार, मनुज शर्मा, सुधीर पांडे, किरण खोज, और स्मिता तांबे ने प्रमुख भूमिकाएं निभाई हैं।

राजी

मेघना गुलजार के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘राजी’ साल 2018 में रिलीज हुई थी। फिल्म में आलिया भट्ट एक हिंदुस्तानी जासूस लड़की है, जो देश की रक्षा के लिए पाकिस्तान जाने से भी नहीं कतराती। वो पाकिस्तानी लड़के से शादी करती है जो आर्मी ऑफिसर है। वहां जाकर वो जासूसी करती है, हिम्मत दिखाती है, बलिदान देती है लेकिन आखिर में उसे सिर्फ अकेलापन मिलता है। लेकिन देश के आगे वो इसके लिए भी राजी है। फिल्म में एक महिला के हर रूप को बखूबी दर्शाया गया है। फिल्म में आलिया भट्ट के अलावा विकी कौशल, जयदीप अहलावत, सोनी राजदान, रजित कपूर, शिशिर शर्मा और आरिफ जकारिया जैसे कलाकार हैं।

​लिपस्टिक अंडर माय बुर्का

डायरेक्टर अलंकृता श्रीवास्तव की फिल्म ‘लिपस्टिक अंडर माय बुर्का’ साल 2016 में रिलीज हुई थी। भोपाल की तंग गलियों में पुराने खयालात को पीछे छोड़ नई विचारधारा में जीने की चाह रखने वाली चार महिलाओं की एक खूबसूरत कहानी को फिल्म में दिखाया गया है। फिल्म में कोंकणा सेन, आहाना कुमरा, रत्ना पाठक शाह और प्लाबिता बोरठाकुर मुख्य भूमिका में हैं। इस फिल्म ने कई इंटरनैशनल अवॉर्ड जीते थे।

​एंग्री इंडियन गॉडेस

साल 2015 में पैन नलिन के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘एंग्री इंडियन गॉडेस’ में 6 लड़कियों की स्ट्रगल की कहानी दिखाई जाती है। दरअसल, ये फिल्म बताती है कि महिलाओं के खिलाफ रैंडम क्राइम कितने आसान से हो जाते हैं। ‘एंग्री इंडियन गॉडेस’ मे दिखाया जाता है कि इन लड़कियों के लिए गोवा की एक ट्रिप एक हादसा बन जाती है। फिल्म संध्या मृदुल, तनिष्ठा चटर्जी, सारा जेन डायस, अनुष्का मनचंदा, अमृत मघेरा, राजश्री देशपांडे, पावलेन गुजराल और आदिल हुसैन नजर आए।