तापसी पन्नू बोलीं- ‘नहीं मिली कोई 5 करोड़ की रसीद, गलती की होगी तो सजा के लिए तैयार’

Webvarta Desk: बॉलिवुड ऐक्ट्रेस तापसी पन्नू (Taapsee Pannu) पिछले हफ्ते तब अचानक चर्चा में आ गई थीं जब अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap), मधु मंटेना (Mantena) और विकास बहल (Vikas Behl) सहित कुछ लोगों के ठिकानों के साथ ही उनके घर भी आयकर विभाग ने छापा (IT Raid) मारा था।

हालांकि इस छापेमारी (IT Raid) की कार्रवाई के बाद तापसी (Taapsee Pannu) ने एक बार फिर कहा है कि उन्हें किसी बात का डर नहीं है और अगर उन्होंने कुछ गलती की है तो वह सजा भुगतने को तैयार हैं।

‘अगर गलत किया है तो सजा भुगतने को तैयार हूं’

न्यूज चैनल एनडीटीवी से बात करते हुए तापसी (Taapsee Pannu) ने कहा, ‘मैंने और मेरी फैमिली ने छापे के दौरान अधिकारियों के साथ पूरा सहयोग किया। जांच अधिकारी काफी शालीन थे और उन्होंने नियमों के मुताबिक पूरी कार्रवाई की। मैंने और मेरे परिवार ने आयकर विभाग के अधिकारियों के सभी सवालों के जवाब दिए हैं। मैं कुछ छिपा नहीं सकती इसलिए अगर कुछ गलत किया होगा तो सामने आएगा। अगर मैंने कोई भी गलत काम किया है तो मैं सजा भुगतने को तैयार हूं।’

‘मुझे खुद नहीं पता कि मेरे पास 5 करोड़ रुपये’

तापसी पन्नू (Taapsee Pannu) के ठिकाने पर छापे पड़ने के बाद कई न्यूज रिपोर्ट्स में कहा गया था कि उनके पास से 5 करोड़ रुपये की रसीद बरामद की गई है। इसके जवाब में तापसी ने कहा, ‘टैक्स डिपार्टमेंट ने अभी तक कुछ नहीं कहा है मगर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसा बता दिया गया कि मेरे घर से 5 करोड़ रुपये की रसीद और पैरिस में बंगले की जानकारी मिली है।’ तापसी ने मजाकिया लहजे में आगे कहा, ‘मुझे सुनकर खुद ताज्जुब हुआ था कि मुझे किसी ने 5 करोड़ रुपये दिए हैं। मेरा परिवार भी कह रहा था कि मेरे पास इतने पैसे हैं और उन्हें पता ही नहीं था।’

‘वित्त मंत्री की शुक्रगुजार हूं’

तापसी से पूछा गया कि आखिर उनके यहां छापे क्यों मारे गए। इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘मुझे खुद नहीं पता है कि मेरे यहां छापेमारी क्यों हुई। जब यह हुई तो प्रक्रिया को फॉलो करने के अलावा कोई चारा नहीं था।’

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले हफ्ते कहा था कि साल 2013 में भी इन्हीं लोगों (तापसी पन्नू और अनुराग कश्यप) के यहां छापेमारी हुई थी लेकिन तब किसी ने इसे मुद्दा नहीं बनाया था। इसके जवाब में तापसी पन्नू ने कहा, ‘मैं वित्त मंत्री की शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने खुद कहा कि यह एक कानूनी प्रक्रिया है, इसलिए इसे सनसनीखेज मत बनाइए।’

30 से ज्यादा जगहों पड़े थे छापे

बता दें कि 3 मार्च को आयकर विभाग ने मुंबई और पुणे में 30 से ज्यादा जगहों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी। अनुराग कश्यप, विकास बहल और मधु मंटेना की कंपनी फैंटम फिल्म्स पर टैक्स चोरी के आरोप लगे हैं। इसके अलावा रिलायंस एंटरटेनमेंट ग्रुप के सीईओ शिबाशीष सरकार के यहां भी छापेमारी की गई थी। साथ ही सिलेब्रिटी और टैलेंट मैनेजमेंट कंपनियों क्वान और एक्सीड के कुछ कर्मचारी भी जांच के घेरे में हैं।