sushant-singh-rajput

आज होगा सुशांत सिंह राजपूत का अंतिम संस्कार, मुंबई पहुंचा परिवार

New Delhi: पूरा बॉलिवुड अभी तक सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh) की आत्मह’त्या के सदमे से बाहर नहीं आ सका है। सुशांत ने रविवार सुबह अपने फ्लैट में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

उनका पोस्टमॉर्टम हो गया है और उसमें आत्महत्या की पुष्टि हुई है। सुशांत के परिवारजन और पिता मुंबई पहुंच चुके हैं और उम्मीद जताई जा रही है कि आज सोमवार को ही उनका अंतिम संस्कार (Sushant Singh Last Rites) कर दिया जाएगा।

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh) की फैमिली मुंबई पहुंच चुकी है। मुंबई के कलीना एयरपोर्ट की कुछ तस्वीरें सामने आई हैं, जिसमें उनकी फैमिली नजर आ रही। इस वक्त पूरा परिवार को सुशांत के जाने से जबरदस्त झटका लगा है और सभी गम में डूबे हैं।

अभी तक यह कन्फर्म नहीं है कि सुशांत के पिता के साथ फैमिली का कौन-कौन व्यक्ति मुंबई पहुंचा है। उम्मीद जताई जा रही है कि सुशांत का परिवार उनका अंतिम संस्कार मुंबई में ही करेगा क्योंकि कोरोना वायरस के चलते उनका शव पटना ले जाना ठीक नहीं होगा।

पूरे परिवार के इससे बुरी रात और हो नहीं सकती, जहां एक-एक पल ने उन्हें दर्द और आंसुओं से छलनी कर दिया होगा। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी के बाद से हर कोई सन्न है और उनके पटना आवास पर लोग लगातार शोक जताने के लिए आ रहे हैं।

सुशांत के चचेरे भाई और बिहार में सुपौल जिले के छातापुर विधायक नीरज बबलू भी देर रात राजीव नगर वाले घर पर पहुंचे। नीरज बबलू के मुताबिक, सुशांत का अंतिम संस्कार मुंबई में ही किया जाएगा। इसके लिए सुशांत के पिता के. के. सिंह और विधायक नीरज बबलू कल सुबह 11:20 की फ्लाइट से मुंबई जाएंगे।

नीरज के मुताबिक, सुशांत की एक बहन अमेरिका में हैं तो वो आ नहीं पाएंगी। हालांकि परिवार के बाकी सदस्य मुंबई में ही रहेंगे। नीरज बबलू ने ये भी कहा कि वो सभी इस घटना से काफी टूट गए हैं, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा कि जिस शख्स की जिंदगी अभी शुरू ही हुई थी उसने मौत को गले कैसे लगा लिया।

बता दें कि सुशांत की मां का भी कुछ समय पहले निधन हो गया था, जिसके बाद से वह काफी सदमे में थे। पुलिस को सुशांत के डिप्रेशन के इलाज वाले कुछ कागजात मिले हैं। बताया गया है कि लंबे समय से उनका डिप्रेशन का इलाज चल रहा था और कुछ समय से वह अपनी दवाइयां भी समय से नहीं ले रहे थे। सुशांत अकेलेपन से जूझ रहे थे और अपने परिवार को काफी समय से साथ रहने के लिए भी बुला रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *