Sushant Rajput Case: सलमान खान के खिलाफ केस चलाने की याचिका, कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

New Delhi: बॉलीवडु अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त (Sushant Rajput Case) के मामले में लगातार अपडेट सामने आ रहे हैं।

मुंबई पुलिस पूरे मामले (Sushant Rajput Case) की तफ्तीश में जुटी हुई है। इस बीच बिहार के मुजफ्फरपुर में सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर सलमान खान (Salman Khan), करण जौहर, आदित्य चोपड़ा समेत कई नामी हस्तियों के खिलाफ परिवाद दायर किया गया। जिस पर शुक्रवार को सुनवाई हुई।

इस दौरान वकील सुधीर कुमार ओझा ने परिवाद में शामिल लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने को लेकर कोर्ट से अपील की। साथ ही मामले में कोर्ट के स्तर पर जांच की भी मांग की है। जानकारी के मुताबिक, कोर्ट ने इस पर फैसला सुरक्षित रखा है।

मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में हुई सुनवाई

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को मुंबई स्थित अपने फ्लैट में फांसी लगाकर आत्मह’त्या कर ली थी। इसी मामले में आत्मह’त्या की साजिश के आरोप में बिहार के मुजफ्फरपुर में परिवाद दायर किया गया, जिस पर शुक्रवार को सीजेएम कोर्ट में सुनवाई हुई।

इस दौरान बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान की तरफ से अधिवक्ता एनके अग्रवाल कोर्ट में उपस्थित हुए और वकालतनामा दाखिल किया। कोर्ट में दायर परिवाद में सलमान खान, करण जौहर, आदित्य चोपड़ा, साजिद नाडियावाला, संजय लीला भंसाली, एकता कपूर समेत बॉलीवुड की कई हस्तियों को आरोपी बनाया गया है।

शिकायतकर्ता ने की कोर्ट स्तर पर जांच की मांग

जानकारी के मुताबिक, परिवाद दायर करने वाले वकील सुधीर कुमार ओझा ने सुनवाई के दौरान कोर्ट से सभी आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने और कोर्ट के स्तर पर जांच की मांग की है। वहीं इस मामले में फिल्म निर्माता महेश भट्ट, रिया चक्रवर्ती समेत चार अन्य को भी आरोपी बनाने की मांग की गई है। कोर्ट ने सभी बिंदुओं पर बहस सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रखा है।

सुशांत को लेकर परिवाद में लगाए गए ये आरोप

परिवाद में आरोप लगाए गए हैं कि फिल्म इंडस्ट्री में सुशांत सिंह राजपूत काफी आगे चल रहे थे। उन्हें नीचा दिखाने के लिए आरोपी लगातार साजिश रच रहे थे। इन फिल्म निर्माता-निर्देशकों ने सुशांत का बहिष्कार कर रखा था। उनकी फिल्मों को रिलीज नहीं होने दे रहे थे। ये नहीं चाह रहे थे कि बिहार का उभरता यह कलाकार उनको पीछे छोड़कर आगे निकल जाए। इस वजह से ऐसी स्थिति पैदा की गई कि सुशांत सिंह को आत्मघाती कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ा।