रिया पर भड़कीं सुशांत की बहन, बोली- मौत के बाद मेरे बेदाग भाई की बदनाम कर रही

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह रापजूत सुसाइड मामले में लगातार नए उतार चढ़ाव देखने को मिल रहे हैं। गुरुवार शाम टीवी चैनल आज तक को दिए खास इंटरव्यू में रिया चक्रवर्ती ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए। इस इंटरव्यू के बाद लोग पूरे केस को अब एक नए दृष्टिकोण से देखने की कोशिश कर रहे हैं।

उधर, सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने इस बात पर नाराजगी जताते हुए अपने ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक कई ट्वीट किए हैं।

रिया पर भड़की श्वेता

श्वेता ने अपने ट्वीट में रिया पर आरोप लगाया कि उन्होंने सुशांत को उनकी मर्जी के बिना ड्रग्स दिए। श्वेता सिंह कीर्ति ने ट्वीट में लिखा, ‘काश भाई उस लड़की से कभी ना मिला होता। किसी की मर्जी के बिना उसे ड्रग्स देने और फिर उसे ये समझाने कि तुम्हारी तबीयत ठीक नहीं है, उसे साइकैट्रिस्ट के पास ले जाने।।। ये मैन्युपुलेशन का कौन सा स्तर है। तुम अपनी रूह को कैसे माफ कर पाओगी? तुम पहले ही बहुत कुछ कर चुकी हो।’

श्वेता ने लिखा, ‘तुम में वाकई हिम्मत है कि नेशनल मीडिया पर आकर मेरे बेदाग भाई की इमेज खराब कर रही हो उसकी मौत के बाद। तुम्हें लगता है कि ईश्वर तुम्हें नहीं देख रहा है जो कुछ तुमने किया है उसके लिए? मुझे ईश्वर में यकीन है और उस पर पूरा भरोसा है। अब मुझे वाकई देखना है कि वो तुम्हें क्या सजा देता है।’

बच्चों को छोड़कर आई थी भाई से मिलने

श्वेता ने एक और ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने फ्लाइट की ई-टिकट शेयर की है। इसे शेयर करते हुए श्वेता ने लिखा, ‘जैसा कि रिया ने इंटरव्यू में जिक्र किया कि हम अपने भाई से प्यार नहीं करते थे। हां, सही है। इसीलिए जनवरी में मैं अमेरिका से भारत आई जब मुझे पता चला कि भाई चंडीगढ़ आ रहा है और वो ठीक नहीं है। मुझे अपना बिजनेस रोकना पड़ा था और अपने बच्चों को पीछे छोड़ना पड़ा।’

अपने भाई से ना मिलने का मलाल

श्वेता ने आगे लिखा, ‘सबसे बुरा हिस्सा ये था कि मैं उससे मिल नहीं सकी। क्योंकि जब तक मैं पहुंची तब तक भाई चंडीगढ़ से निकल चुका था। क्योंकि उसे लगातार रिया और कुछ वर्क कमिटमेंट्स के चलते कॉल्स आ रहे थे। परिवार तो हमेशा रॉक सॉलिड तरीके से उसके लिए मौजूद था।’ श्वेता ने लिखा, ‘जनवरी वो वक्त था जब भाई ने रानी दी को SOS कॉल किया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *