Sonu-Sood

विदेश में फंसे स्टूडेंट्स को सोनू सूद ने पहुंचाया घर, स्टूडेंट्स बोले- यू आर रियल हीरो सर

New Delhi: फिल्मों में आमतौर पर खलनायक की भूमिका निभाने वाले अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) इस समय लोगों के लिए रियल हीरो बन गए हैं। कोरोना काल में कामगारों, मजदूरों और छात्रों को उनके घर पहुंचाकर लोगों के लिए सोनू अब किसी मसीहा से कम नहीं हैं।

किर्गिस्तान में फंसे 150 मेडिकल के छात्रों को चार्टर प्लेन से वापस लाकर सोनू (Sonu Sood) एक बार फिर लोगों के दिलों पर छा गए हैं। इनमें से 4 छात्र गोरखपुर मंडल के भी हैं। घर पहुंचकर इन छात्रों ने कहा कि सोनू सूद रियल हीरो हैं।

सोनू सूद (Sonu Sood) किर्गिस्तान में इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में पढ़ाई करने वाले 150 भारतीय छात्रों के लिए फरिश्ता बनकर सामने आए हैं। वतन से मीलों दूर फंसे इन छात्रों ने अपनी आवाज़ ट्विटर के माध्यम से सोनू सूद तक पहुंचाई, जिसके बाद इनकी मदद की गई।

किर्गिस्तान ने मेडिकल तृतीय वर्ष की पढ़ाई कर रहे गोरखपुर गोला क्षेत्र के रहने वाले नितेश जायसवाल ने बताया कि वहां केवल भारतीय छात्र ही फंसे थे। अन्य मुल्कों के छात्र जा चुके थे। विदेश में फंसे छात्रों की मदद करने कोई नहीं आया तब हम लोगों ने देखा की सोनू सूद ने प्रवासियों को उनके घर पहुंचाने के लिए एक मुहिम चलाई है। ट्विटर के माध्यम से हमने अपनी समस्या को सोनू सूद तक पहुंचाया। जिसके बाद उनकी टीम ने फोन किया और और सोनू सूद ने ढांढस बांधते हुए कहा कि आप लोग परेशान न हों, जल्द आप अपने घर पहुंचेंगे।

नितेश ने बताया कि सोनू सूद के इस आश्वासन के बाद गुरुवार को कॉल आई कि आप लोगों के लिए किर्गिस्तान से वाराणसी के लिए चार्टेड प्लेन की व्यवस्था करा दी गई है और हम शुक्रवार को अपने वतन पहुंच गए।

रियल हीरो हैं सोनू: विश्वजीत

रुस्तमपुर के विश्वजीत यादव किर्गिस्तान में मेडिकल द्वितीय वर्ष के छात्र हैं। वतन वापसी के बाद उन्होंने बातचीत में बताया कि मैं यही बोल सकता कि ‘यू आर रियल हीरो, थैंक्यू सोनू सर। इस मुश्किल घड़ी में सोशल मीडिया ने हमारी मुश्किलों को दूर किया और सोनू सूद की सहायता से हम अपने मुल्क वापस लौट पाए हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *