मूवी रिव्यू : रोमांस और थ्रिलर का अच्छा मिक्सचर है फिल्म ‘मलंग’

फिल्म रिव्यू : मलंग

कलाकार : आदित्य रॉय कपूर, अनिल कपूर, दिशा पाटनी, कुणाल खेमू

स्टार रेटिंग : 3.5

डायरेक्टर : मोहित सूरी

शैली : थ्रिलर/क्राइम

आदित्य रॉय कपूर के साथ ‘आशिक़ी 2’ बना चुके मोहित सूरी इस बार उनके साथ एक रोमांस थ्रिलर मूवी लेकर आए हैं। इस फ़िल्म में ग्लैमर भी है, गेम भी है और ससपेंस थ्रिलर भी है। बस मुझे ट्रेलर काटने वालों से दिक्कत है क्यूँकि फ़िल्म का मेनससपेंस है ट्रेलर में दिखा दिया गया है।

ये कहानी सारा (दिशा पाटनी) और अद्वैत (आदित्य रॉय कपूर) की है। दोनों अपने परिवार से दूर गोवा में छुट्टियाँ मनाने आए हैं। दोनों को प्यार होता है और फिर कहानी पाँच साल आगे बढ़ जाती है, जहाँ अद्वैत पुलिसवालों का मर्डर कर रहा है। वो ऐसा क्यों कर रहा है यही फ़िल्म का ससपेंस है जो अंत तक बना रहता है। मोहित सूरी के निर्देशन की बात करें तो उनका काम सधा हुआ है। वो कहानी में थ्रिलर बनाए रखते हैं।

ऐक्टिंग की बात करे तो आदित्य रॉय कपूर काम बढ़िया रहा, इस फ़िल्म में आदित्य की शानदार बॉडी और उनका लुक अद्वैत के कैरेक्टर को जस्टिफ़ाई करता है। आदित्य रॉय कपूर इमोशनल सीन करने में माहिर हैं मगर यहाँ उन्होंने इमोशनल के साथ साथ ऐक्शन सीन में भी कमाल का काम किया है।

आनंद की फिल्म में जमेगी कार्तिक-सारा की जोड़ी

दिशा पाटनी हॉट और ग्लैमरस तो लगी ही हैं इस फ़िल्म में उन्हें ऐक्टिंग का स्पेस भी मिला है और उन्होंने इम्प्रेस किया है, हालाँकि अभी उन्हें और भी बेहतर करने की ज़रूरत है लेकिन यहाँ से शुरुआत हो चुकी है।

‘कलंक’ के बाद कुणाल खेमू ने एक बार फिर अपने अभिनय से प्रभावित किया है, फ़िल्म में उनका कई शेड देखने को मिलता है और हर जगह वो इमप्रेसिव लगे हैं। एक ड्रग ऐडिक्ट पुलिसवाले के रोल में अनिल कपूर बेहतरीन लगे हैं। इस फ़िल्म में उनका एक अलग अवतार देखने को मिलता है। जेस्सी के रोल में एली अवराम हिप्पी लुक में दिख रही हैं, उन्हें जितना ऐक्टिंग स्पेस मिला है और वो उसमें छा जाती हैं।

ये फ़िल्म दो टाइमलाइन में चलती है, एक में अद्वैत बदला लेता है दूसरे में बदले की वजह दिखाई जाती है। इस फ़िल्म में लगभग हर किरदार के डबल शेड देखने को मिल रहे हैं, बस दिक्कत सिर्फ़ इतनी है कि फ़िल्म के ट्रेलर में मुख्य ससपेंस का ख़ुलासा हो चुका होता है इसलिए जो सीन आपको चौंका सकता था नहीं चौंकाता है। इसके अलावा जब ससपेंस खुलता है तब बदले की वजह भी छोटी लगने लगती है।

जब फ़िल्म मोहित सूरी की हो तो म्यूज़िक अच्छा होता ही है, इस फ़िल्म का म्यूज़िक भी अच्छा है लेकिन एक भी गाना वो जगह नहीं बना पाया है जो आशिक़ी 2, मर्डर 2 या ज़हर जैसी फ़िल्मों के गानों ने चलाया था। मलँग के टाइटल सॉंग के अलावा कोई गाना आपको याद भी नहीं रह जाता। फ़िल्म का म्यूज़िक अच्छा है लेकिन लिरिक्स में कमी है।

इस फ़िल्म के साथ आपको अलग मोहित सूरी देखने को मिलेंगे, इमोशनल सीन और लव स्टोरी बनाने में वो माहिर हैं इस बार उन्होंने थ्रिलर में हाथ आज़माया है। ये उनकी अब तक की सबसे डार्क फ़िल्म है।मोहित ने फ़िल्म बनाने में कई क्रीएटिव लिबर्टी भी ली हैं, कहीं कहीं फ़िल्म में इसका अहसास भी होता है। इसके अलावा ये बॉलीवुड की शायद पहली ऐसी फ़िल्म है जिसमें ड्रग्स को इतने खुले तौर पर दिखाया गया है।

इस फ़िल्म में ऐक्शन है, रोमांस है, थ्रिल है और एक लव स्टोरी है। अगर इस वीकेंड आप एंजॉय करना चाहते हैं तो ये फ़िल्म देख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *