‘खुदकुशी नहीं यह ‘मर्डर’ है…’ सुशांत की मौत पर दो धड़ों में बंटा बॉलिवुड

New Delhi: ‘अगर आप मेरी फिल्म देखने नहीं जाएंगी, तो ये मुझे बॉलिवुड से बाहर फेंक सकते हैं..मेरा कोई गॉड फादर नहीं है.. मैंने आप लोगों को ही अपना गॉड और फादर बनाया है.. प्लीज देखें अगर आप चाहती हैं कि मैं बॉलिवुड में सरवाइव करूं। यह बात भले ही सुशांत ने अपने किसी फैन से मजाक में कहीं होंगी, लेकिन कहीं न कहीं इस पोस्ट से सुशांत (Sushant Singh Rajput) का दर्द झलक रहा है कि वह इस चमक-दमक भरी फिल्म इंडस्ट्री में खुद को अकेला महसूस करते थे।

सुशांत (Sushant Singh Rajput) की मौ’त पर बॉलिवुड से लेकर सोशल मीडिया तक में फिल्म इंडस्ट्री में चलने वाले नेपोटिजम और खेमेबाजी पर बहस शुरू कर दी है। सोशल मीडिया पर इस बहस में अब सोनम कपूर, यशराज फिल्म्स, करण जौहर और सलमान खान जैसे स्टार्स के नामों की भी चर्चा हो रही है।

सुशांत ने क्यों लगाई फांसी? बॉलिवुड में उठ रहे ढेरों सवाल?

तमाम बॉलिवुड सिलेब्रिटीज सुशांत की असमय की मौत पर शोक जाहिर कर रहे हैं और मेंटल हेल्थ पर खुलकर सामने आने का सलाह-मशविरा दे रहे हैं। हालांकि सिलेब्स की इन पोस्ट पर कई फैंस और स्ट्रगलर आर्टिस्ट्स ने डबल स्टैंडर्ड रवैये के लिए सवाल उठाए हैं।

वहीं अनुभव सिन्हा की पोस्ट के साथ सोशल मीडिया पर आउट साइडर वर्सेज नेपोटिजम की बहस ने भी जोर पकड़ लिया है। धमेंद्र, कंगना रनौत, शेखर कपूर, मीरा चोपड़ा, रजत बरमेचा, रणवीर शौरी, सपना भवानी और निखिल द्विवेदी जैसे कई बड़े नामों ने सुशांत की आत्महत्या के बाद इंडस्ट्री में भेदभाव पर सवाल उठाए हैं।

कंगना ने किए तीखे सवाल

सुशांत की असमय मौत पर शोक जाहिर करने वाले सिलेब्स को कंगना ने आड़े हाथों लिया। कंगना ने एक विडियो पर नेपोटिजम की बात कहते हुए कहा कि ‘गली बॉय’ जैसी वाहियात फिल्म को अवॉर्ड मिले, लेकिन ‘छिछोरे’ को क्यों नहीं? ‘सुशांत की मौत ने हम सबको झक-झोर कर रख दिया है। मगर कुछ लोग इस तरह से चला रहे हैं कि जिन लोगों का दिमाग कमजोर होता है, वे डिप्रेशन में आते हैं और सूइसाइड करते हैं।

कंगना ने कहा, एक इंजीनियरिंग के इंट्रेंस एग्जाम रैंक होल्डर का दिमाग कमजोर कैसे हो सकता है? वह साफ कह रहे थे कि प्लीज मेरी फिल्में देखो, मेरा कोई गॉडफादर नहीं है, मुझे इंडस्ट्री से निकाल दिया जाएगा। क्या इस हादसे की कोई बुनियाद नहीं है। सुशांत सिंह राजपूत के लिए आप लिखते हैं वह साइकोटिक थे, न्यूरोटिक थे, अडिक्ट थे और बड़े स्टार्स की अडिक्शन तो बहुत क्यूट लगती है। तो यह सुइसाइड नहीं प्लान्ड मर्डर था।

उन्होंने कहा तुम किसी काम के नहीं हो और वह मान गया और उन्होंने कहा तुम्हारा कुछ नहीं होगा, वह मान गया। दरअसल, वे चाहते ही हैं कि वे इतिहास लिखें कि सुशांत सिंह राजपूत कमजोर दिमाग का था। लेकिन वे यह नहीं बताएंगे सच्चाई क्या है।’

चढ़ते सूरज को सलाम

सुशांत के इस दुनिया से चले जाने के बाद तमाम बॉलिवुड स्टार्स ने शोक जाहिर करते हुए उनके संग अपनी तस्वीर शेयर कीं। हालांकि सोशल मीडिया पर आम लोगों से लेकर जूनियर आर्टिस्ट्स तक कुछ खास सिलेब्रिटीज पर बिना नाम लिए निशाना साध रहे हैं। फिल्म ‘उड़ान’ से अपने करियर की शुरूआत करने वाले रजत बरमेचा ने एक विडियो पोस्ट करके इंडस्ट्रीवालों के मेंटल हेल्थ की बात करने को फैंसी ट्रेंड बताया है।

उधर ऐक्टर व प्रड्यूसर निखिल द्विवेदी ने लिखा है, ‘कोई आपत्ति नहीं है कि आप सिर्फ चढ़ते सूरज को सलाम करें! शायद सभी करते हैं.. आपत्ति इसमें है कि ढलते वक़्त जिस सूरज से आपने रोशनी ली है, आप उसी सूरज से नजर चुराते हैं, और तो और उसकी खिल्ली भी उड़ाते हैं। एक दूसरे के टच में रहने वाली बात न करें, क्या आप अभय देओल और इमरान खान के टच में हैं.. नहीं न.. अगर उनका करियर चमक रहा होता, तो शायद वे आपके सर्किल में होते..।’

नेपोटिजम पर छिड़ी चर्चा

सुशांत की मौत के कुछ घंटों बाद ही सोशल मीडिया पर कुछ सिलेब्स के लिए बॉलिवुड क्लब, गेट कीपर्स ऑफ बॉलिवुड, डबल फेस, हिपोक्रेटिक जैसे हैशटैग ट्रेंड करने लगे। रणवीर शौरी इन पर तंज कसते हुए लिखते हैं ‘उन्होंने जो कदम उठाया, वह उनका फैसला था। इसके लिए किसी को भी जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। लेकिन इस बारे में उन लोगों को तो जरूर कुछ कहना चाहिए, जिन्होंने खुद को अपने आप हिंदी सिनेमा का चौकीदार नियुक्त कर लिया है। जो यह खेल खेल रहे हैं और उन्हें अपने डबल स्टैंडर्ड रवैये के बारे में भी बताना चाहिए। बॉलिवुड प्रिविलेज क्लब को आज रात बैठकर गंभीरता से सोचना चाहिए।’

शेखर कपूर ने भी किया टारगेट

वहीं डायरेक्टर शेखर कपूर ने ट्विटर पर लिखा, ‘मुझे मालूम है कि आप दर्द से गुजर रहे थे। मैं उन लोगों की कहानी जानता हूं जिनकी वजह से आप इतनी बुरी तरह टूटे कि मेरे कंधे पर सिर रखकर रोए। काश, पिछले 6 महीने में मैं आपके इर्द-गिर्द होता। काश, आप आप मुझ तक पहुंच पाते। जो आपके साथ हुआ, वह उन लोगों के कर्म हैं, आपके नहीं।’

जबकि सिलेब्रिटी हेयर स्टाइलिस्ट सपना ने लिखा, ‘इस बात में कोई शक नहीं है कि सुशांत पिछले कुछ सालों से परेशान थे। इंडस्ट्री का कोई भी इंसान उनके साथ खड़ा नहीं हुआ और ना ही किसी ने उनकी मदद की। आज उसके बारे में पोस्ट करना दिखाता है कि इंडस्ट्री असल में कितनी दिखावटी है। यहां कोई आपका दोस्त नहीं है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *