शिवसेना नेता संजय राउत की बढ़ी मु’श्कि’लें, बॉम्बे हाईकोर्ट ने मंजूर की कंगना रनौत की अर्जी

New Delhi: महाराष्ट्र के बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) ने मंगलवार को अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को अपनी याचिका में शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत (Shivsena Leader Sanjay Raut) का नाम एक पक्षकार के रूप में शामिल करने की अनुमति दे दी।

मुंबई में रनौत (Kangana Ranaut) के बंगले का एक हिस्से को बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) द्वारा तोड़े जाने के बाद अभिनेत्री ने इसके खिलाफ याचिका दायर की थी। न्यायमूर्ति एसजे काठवाला और न्यायमूर्ति आरआई चागला की पीठ ने BMC के एच-वार्ड के अधिकारी भाग्यवंत लाते को भी पक्षकार बनाने की अनुमति दी ताकि वह अभिनेत्री द्वारा अपने ऊपर लगाए गए आ;रो’पों का जवाब दे सकें।

रनौत (Kangana Ranaut) ने 9 सितंबर को हाई कोर्ट (Bombay High Court) में याचिका दाखिल की थी, जिसमें याचना की गई कि यहां पाली हिल क्षेत्र में उनके बंगले के एक हिस्से को BMC द्वारा तोड़े जाने को अदालत अवैध घोषित करे। अभिनेत्री ने अपनी याचिका में संशोधन करते हुए BMC से 2 करोड़ रुपये हर्जाने की मांग भी की थी।

संशोधित याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए अदालत (Bombay High Court) ने इस बात का संज्ञान लिया कि रनौत (Kangana Ranaut) के वकील वरिष्ठ अधिवक्ता बीरेंद्र सर्राफ ने एक डीवीडी सौंपी थी, जिसमें कथित तौर पर शिवसेना नेता राउत (Shivsena Leader Sanjay Raut) द्वारा अभिनेत्री को ध’मका’ने वाला एक बयान है।

राउत को जवाब देने का अवसर मिलना चाहिएः राउत

जस्टिस काठवाला ने कहा कि अगर अभिनेत्री डीवीडी को सही मानती हैं तो राउत को अपनी बात कहने का मौका मिलना चाहिए। पीठ ने कहा, ‘क्या पता यदि राउत कह दें कि उन्होंने ऐसा बयान नहीं दिया या इस डीवीडी से छेड़छाड़ की गई है? आपको उन्हें जवाब देने का अवसर देना चाहिए।’

सर्राफ ने कहा कि वह भाग्यवंत लाते को भी याचिका में पक्षकार बनाना चाहते हैं क्योंकि उन्होंने अवै;ध निर्माण और ध्वस्त करने संबंधी सभी आदेश जारी किए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *