नहीं रहे ‘सूरमा भोपाली’ ऐक्‍टर और जावेद जाफरी के पिता जगदीप, बॉलीवुड में शोक की लहर

New Delhi: बॉलिवुड के मशहूर ऐक्‍टर, कमीडियन जगदीप (Jagdeep) का बुधवार को 81 वर्ष की उम्र में इंतकाल हो गया। वह कई बीमारियों से पीड़ित थे। गुरुवार की सुबह उन्‍हें सुपुर्दे-ए-खाक किया गया। बता दें, जगदीप का पूरा नाम सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी था।

जगदीप (Jagdeep) ने करीब 400 से ज्‍यादा फिल्‍मों में काम किया। उन्‍होंने 1975 में आई ब्‍लॉकबस्‍टर फिल्‍म ‘शोले’ में सूरमा भोपाल का किरदार निभाया जो क‍ि काफी मशहूर हुआ। उन्‍होंने करियर की शुरुआत चाइल्‍ड आर्टिस्‍ट के तौर पर बीआर चोपड़ा की फिल्‍म ‘अफसाना’ से की थी।

अजय देवगन ने जताया शोक

जगदीप (Jagdeep) के इंतकाल की खबर पाते ही अजय देवगन ने ट्विटर पर लिखा, ‘जगदीप साहब के निधन का दुखद समाचार सुना। उन्‍हें स्क्रीन पर देखकर हमेशा खुशी हुई। उन्होंने दर्शकों को आनंद से खूब भरा। जावेद और उनके परिवार के सभी सदस्यों के प्रति मेरी गहरी संवेदना। जगदीप साहब की आत्मा के लिए प्रार्थना।’

जॉनी लीवर ने भी किया ट्वीट

जॉनी लीवर ने अपनी संवेदनाएं जाहिर करते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘मेरी पहली फिल्‍म और जब मैंने पहली बार कैमरा फेस गया वह ‘ये रिश्‍ता ना टूटे’ जगदीप भाई जैसे लेजेंड के साथ थी। हम आपको बहुत मिस करेंगे… उनकी आत्‍मा को शांति मिले। हमारी प्रार्थना और संवेदनाएं परिवार के साथ हैं।’

जवाहर लाल नेहरू से मिला था गिफ्ट

फिल्‍म ‘हम पंछी एक डाल के’ में चाइल्‍ड आर्टिस्‍ट के रूप में जगदीप की परफॉर्मेंस को हर तरफ से प्रशंसा मिली। बहुत से लोगों को यह बात नहीं मालूम होगी कि फिल्‍म में जगदीप की परफॉर्मेंस से इम्‍प्रेस होकर पंडित जवाहर लाल नेहरू ने उन्‍हें पर्सनल स्‍टाफ तक गिफ्ट किया था।

इन फिल्‍मों में किया काम

जगदीप ने ‘लैला मजनू’, ‘खिलौना’, ‘आइना’, ‘सुरक्षा’, ‘फिर वही रात’, ‘पुराना मंदिर’, ‘शहंशाह’, ‘अंदाज अपना अपना’, ‘चाइना गेट’, ‘कहीं प्‍यार ना हो जाए’, ‘बॉम्‍बे टू गोवा’ जैसी फिल्‍मों में काम किया। बता दें, जगदीप के बेटे जावेद जाफरी इंडस्‍ट्री के मशहूर ऐक्‍टर और डांसर हैं। उनके दूसरे बेटे टेलिविजन प्रड्यूसा और डायरेक्‍टर नावेद जाफरी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *