सुशांत केस: CBI के आते ही BMC ने चली नई चाल.. सामने रखा अजब ‘क्वारंटीन’ नियम

New Delhi: बॉलिवुड ऐक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का बड़ा फैसला आया।

कोर्ट (Supreme Court) ने केस (Sushant Singh Rajput Case) की जांच CBI को सौंपने की बात कही। हालांकि, इस निर्णय के बाद महाराष्‍ट्र सरकार (Maharashtra Govt) और मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के बीच हलचल तेज हो गई। इस बीच BMC का केस को लेकर बयान आया है।

BMC ने कहा कि अगर CBI की प्‍लानिंग मुंबई में 7 से कम दिनों तक रुकने की है तो उन्‍हें क्‍वारंटीन नहीं किया जाएगा। हालांकि, अगर वे 7 से ज्‍यादा दिन रुकना चाहते हैं तो उन्‍हें छूट की अनुमति लेनी होगी। गौरतलब है कि BMC का यह बयान तब आया है जब देश और दुनिया में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद हर तरफ लोग खुशी जाहिर कर रहे हैं।

दो पुलिसवालों से भी हो सकती है पूछताछ

बताया जा रहा है कि CBI एसआईटी मामले (Sushant Singh Rajput Case) में मुंबई के दो टॉप पुलिसवालों से भी पूछताछ करेगी। आरोप है कि इसमें से एक अफसर केस के मुख्य संदिग्ध के साथ लगातार टच में थे। वहीं, दूसरे अफसर ने सुशांत के जीजा की शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया।

बिहार पुलिस के अफसर को किया गया था क्‍वारंटीन

बता दें, इससे पहले जब पटना में सुशांत के पिता के के सिंह (KK Singh) ने रिया चक्रवर्ती (Rhea) के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी, तब बिहार पुलिस की एक टीम मामले की जांच करने मुंबई पहुंची थी।

मुंबई पुलिस पर आरोप लगा कि उसने बिहार पुलिस के अफसरों को सहयोग नहीं किया। इसके बाद केस की जांच के लिए बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई भेजा गया लेकिन उन्‍हें वहां क्‍वारंटीन कर दिया गया। जब बिहार पुलिस की ओर से तिवारी को क्वारंटीन से मुक्त करने के लिए लेटर भेजा गया तो बीएमसी ने कहा कि उन्हें पत्र मिला है और जल्द ही इस पर उचित फैसला लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *