Tesla

एलन मस्क की ‘Tesla Motor’ की भारत में एंट्री, बेंगलुरु में बनेंगी इलेक्ट्रिक कारें

Webvarta Desk: Tesla in India: दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स और दिग्गज कारोबारी एलन मस्क (Elon Musk) की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी ‘टेस्ला’ (Tesla) की भारत में एंट्री हो गई है। उसने टेस्ला इंडिया मोटर्स ऐंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (Tesla India Motors and Energy Pvt Ltd) नाम से रजिस्ट्रेशन कराया है।

कंपनी यहां लग्जरी इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण और कारोबार करेगी। टेस्ला (Tesla) ने पहला ऑफिस बेंगलुरु में पंजीकृत किया गया है। वह बेंगलुरु में एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट यूनिट के साथ अपना परिचालन शुरू करेगी।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने टेस्ला का स्वागत किया है। कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, टेस्ला 8 जनवरी को बेंगलुरु में पंजीकृत हुई है। इसका रजिस्ट्रेशन नंबर 142975 है। वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन इसके निदेशक हैं। तनेजा टेस्ला में CFO हैं, जबकि फेंस्टीन टेस्ला में ग्लोबल सीनियर डायरेक्टर, ट्रेड मार्केट एक्सेस हैं। कंपनी भारत में मॉडल 3 को लॉन्च कर सकती है। साल की पहली तिमाही के अंत में डिलीवरी शुरू हो सकती है।

मस्क ने ट्विटर पर किया था ऐलान

टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने पिछले वर्ष अक्टूबर में एक ट्वीट में कहा था कि उनकी कंपनी 2021 में भारतीय बाजार में प्रवेश करेगी। मस्क ने एक ट्वीट के जवाब में कहा था कि निश्चित रूप से उनकी कंपनी अगले साल भारत में दस्तक देगी।

नितिन गडकरी ने की थी पुष्टि

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने दिसंबर में इसकी पुष्टि करते हुए कहा था कि टेस्ला अगले साल भारत में अपना परिचालन शुरू करेगी। कंपनी भारत में मांग के आधार पर विनिर्माण इकाई लगाने की संभावना तलाशेगी।

गडकरी ने कहा, ‘अमेरिका की वाहन क्षेत्र की दिग्ग्ज कंपनी टेस्ला अगले साल से भारत में अपनी कारों के लिए वितरण केंद्र खोलेगी। मांग के आधार पर कंपनी यहां अपना विनिर्माण कारखाना लगाने पर भी विचार करेगी। भारत में अगले पांच साल में दुनिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादक बनने की क्षमता है।’

साल 2020 में 36 प्रतिशत बढ़ी टेस्ला की बिक्री

टेस्ला की वार्षिक बिक्री में 2020 में 36 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। हालांकि, कंपनी पांच लाख वाहनों की डिलिवरी के वार्षिक लक्ष्य से पीछे रह गई। कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि उसने 2020 में 499,500 वाहनों की डिलिवरी की। इनमें अक्टूबर से दिसंबर के दौरान 180,570 स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) और सेडान की डिलिवरी शामिल है। टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एलन मस्क ने कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप शुरू होने से पहले 2020 में पांच लाख वाहनों की डिलिवरी का लक्ष्य रखा था।

चंद दिन बाद ही मस्क से छिना सबसे अमीर शख्स का ताज

इस बीच, दुनिया के सबसे अमीर बने एलन मस्क के सिर पर यह ताज कुछ ही दिन का साबित हुआ। एक दिन में एसेट में करीब 14 अरब अमेरिकी डॉलर की गिरावट आने से वे दूसरे स्थान पर खिसक चुके हैं। इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने वाली कंपनी टेस्ला के फाउंडर अरबपति एलन मस्क अब दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति हैं।

पहले स्थान पर फिर से एमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजॉस काबिज हो गए हैं। फोर्ब्स मैगजीन के अनुसार, सोमवार को टेस्ला के शेयरों में करीब 8 फीसदी की गिरावट आ गई। इसकी वजह से मस्क का नेटवर्थ घटकर 176.2 अरब अमेरिकी डॉलर ही रह गया।

पिछले हफ्ते मिला था ताज

टेस्ला के सीईओ एलन मस्क पिछले हफ्ते गुरुवार को दुनिया के सबसे अमीर शख्स बन गए थे। उन्होंने एमेजॉन के जेफ बेजॉस को पीछे छोड़ दिया था। एलन मस्क की नेटवर्थ बढ़कर 188 बिलियन यूएस डॉलर से अधिक हो गई, जो कि एमेजॉन के संस्थापक जेफ बेजॉस की नेटवर्थ 187 बिलियन यूएस डॉलर से एक बिलियन डॉलर ज्यादा है। ऐसा टेस्ला के शेयर प्राइस में निरंतर वृद्धि के चलते हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *