कोरोना काल में बदल गए Tax से जुड़े ये 7 नियम, टैक्सपेयर्स के लिए जरूरी है जानना

New Delhi: वित्त वर्ष 2019-20 के लिए टैक्स रिटर्न (Income Tax return) फाइल करने की तारीख बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 तक कर दी गई है।

इसके अलावा टैक्स (Income Tax return) सेविंग इन्वेस्टमेंट क्लेम (सेक्शन 80वी, सेक्शन 80डी) करने की तारीख भी 30 जून से बढ़ाकर 31 जुलाई 2020 तक कर दी गई है। इसके अलावा टीडीएस सर्टिफिकेट (फॉर्म 16, फॉर्म 16A) जारी करने की तारीख को भी बढ़ाकर 15 अगस्त 2020 तक कर दिया गया है।

बी-लेटेडे और रिवाइज्ड टैक्स रिटर्न

24 जून के सरकारी नोटिफिकेशन के मुताबिक, वित्त वर्ष 2018-19 के लिए बी-लेटेडे और रिवाइज्ड टैक्स रिटर्न (Income Tax return) फाइल करने की तारीख 31 जुलाई 2020 तक बढ़ दी गई है।

सेल्फ असेसमेंट टैक्स

स्मॉल और मिडिल क्लास टैक्सपेयर्स को राहत देते हुए 1 लाख रुपये तक के सेल्फ असेसमेंट टैक्स जमा करने की तारीख बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 तक कर दी गई है।

कैपिटल गेन डिडक्शन क्लेम

कैपिटल गेन को लेकर इनक टैक्स एक्ट के सेक्शन 54 और 54B के तहत डिडक्शन क्लेम की समय सीमा बढ़ाकर 30 सितंबर 2020 तक कर दी गई है। अब 30 सितंबर तक investment/ construction/ purchase को लेकर कैपिटल गेन डिडक्शन क्लेम किया जा सकता है।

TDS/TCS स्टेटमेंट

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए TDS/TCS स्टेटमेंट जमा करने की तारीख बढ़ाकर 31 जुलाई 2020 और TDS/TCS सर्टिफिकेट जारी करने की तारीख बढ़ाकर 15 अगस्त 2020 तक कर दी गई है।

बेनामी कानून

डायरेक्ट टैक्स और बेनामी कानून के अंतर्गत नोटिस जारी करने, ऑर्डर पास करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर तक थी, जिसे बढ़ाकर 31 मार्च 2021 तक कर दी गई है। इसके अलावा विवाद से विश्वास स्कीम के तहत बिना इंट्रेस्ट के पेमेंट की तारीख को पहले ही 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ा दिया गया है

PAN-आधार लिंक

PAN-आधार लिंक करने की आखिरी तारीख 30 जून 2020 थी, जिसे बढ़ाकर 31 मार्च 2021 कर दिया गया है। पैन-आधार लिंक नहीं होने पर 31 मार्च 2021 के बाद पैन अमान्य हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *