SBI के 44 करोड़ खाताधारकों के लिए बड़ी खुशखबरी, बैंक के इस फैसले खुशी से झूम उठेंगे आप

नई दिल्ली। भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने 44 करोड़ खाताधारकों को बड़ा तोहफा दिया है। दरअसल, एसबीआई ने कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं, जिसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ेगा।

इन फैसलों के तहत SBI ने मिनिमम बैलेंस रखने का चार्ज और SMS चार्जेस को हटाने का फैसला किया है। हालांकि, यह नियम सिर्फ सेविंग अकाउंट्स वालों पर ही लागू होगा।

एसबीआई ने दी जानकारी

SBI ने ट्वीट कर कहा है कि एसबीआई बचत खाताधारकों के लिए अच्छी खबर है। अब आपको एसएमएस सेवा और मासिक न्यूनतम राशि नहीं रखने पर भी शुल्क नहीं लेगा। एसबीआई के 44 करोड़ से अधिक बचत खाताधारकों ये सुविधा मिलेगी।

क्या यह सुविधा उन सभी एसबीआई बचत खातों के लिए है जिनमें इंटरनेट बैंकिंग और चेक बुक की सुविधा है? इस सवाल के जवाब में, एसबीआई ने एक ट्वीट में कहा कि ये चार्जेस सभी बचत खातों के लिए लागू है।

मिनिमम बैलेंस मेंटेन ना करने पर लग रही थी पेनल्टी

बता दें बैंक खाते में 1,00,000 रुपये से ज्यादा का औसत मासिक बैलेंस करने वाले बचत खाताधारकों को असीमित लेनदेन की सुविधा एसबीआई देता है। वहीं अन्य नियमित बचत खाताधारकों को बैंक 8 मुफ्त लेनदेन की सुविधा देता है। इनमें 5 एसबीआई एटीएम और किसी अन्य बैंक के 3 एटीएम से मुफ्त लेनदेन शामिल हैं। वहीं गैर-मेट्रो शहरों में 10 मुफ्त एटीएम लेनदेन होते हैं, जिसमें 5 लेनदेन एसबीआई से किए जा सकते हैं, जबकि 5 अन्य बैंकों के एटीएम से।

एसबीआई ने की थी पहले भी घोषणा

इस साल मार्च में, एसबीआई ने घोषणा की थी कि वह सभी बचत बैंक खातों के लिए औसत मासिक न्यूनतम राशि रखने की अनिवार्यता समाप्त कर दी है। इससे अब बैंक के सभी बचत खाताधारकों को जीरो बैलेंस की सुविधा मिलने लगेगी। उस समय मेट्रो शहरों में बचत खाताधारकों को न्यूनतम राशि 3000, कस्बों में 2000 और ग्रामीण इलाकों में 1000 रुपये खाते में रखने होते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *