Petrol Price Hike: पेट्रोल में लगी आग, भोपाल में 100 रुपये के पार, कई पंप पर बिक्री करनी पड़ी बंद

Webvarta Desk: Petrol Price Hike: सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल (Petrol Price) के भाव में लगातार छठे दिन रविवार को भी बढ़ोतरी की। कीमत बढ़ने की वजह से मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पुराने पेट्रोल पंपों पर प्रीमियम पेट्रोल की बिक्री बंद हो गई।

प्रीमियम पेट्रोल का दाम (Petrol Price Hike) 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर पहुंच गया। दरअसल पेट्रोल पंप की पुरानी मशीनों में 3 डिजिट के दाम डिस्प्ले ही नहीं हो पा रहे थे। जानकारी के मुताबिक, अगर सादा पेट्रोल का दाम भी 100 रुपये लीटर तक पहुंचा तो कई पेट्रोल पंप बिक्री बंद कर देंगे।

कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने पेट्रोलियम उत्पादों के दामों में बढ़ोतरी की आलोचना करते हुए सकरार से इन पर कर तत्काल कम किए जाने की मांग की है। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को संसद में कहा था कि पेट्रोलियम उत्पादों पर उत्पाद शुल्क घटाने का फिलहाल कोई विचार नहीं है।
अब महानगरों में कितने रुपये में बिक रहा है पेट्रोल?

दाम बढ़ने से मुंबई में पेट्रोल 95 रुपये प्रति लीटर के ऊपर पहुंच गया है। अब दिल्ली में पेट्रोल 88.73 रुपये/लीटर और डीजल 79.06 रुपये/लीटर हो गया है। मुंबई में पेट्रोल के भाव बढ़ कर 95.21 रुपये प्रति लीटर और 86.04 रुपये प्रति लीटर के रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए हैं। चेन्नई में अब पेट्रोल 90.96 रुपये प्रति लीटर और डीजल 84.16 रुपये प्रति लीटर हो गया है। वहीं कोलकाता में पेट्रोल 90.01 रुपये प्रति लीटर और डीजल 82.65 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

पेट्रोल के दाम थ्री डिजिट पहुंचने से पहले मशीनों को कर रहे तैयार

दिल्ली में अगर पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये या इससे ऊपर पहुंचती है, तो क्या लोगों को पेट्रोल मिलने में कोई परेशानी होगी? पेट्रोल पंपों पर लगी मौजूदा मशीनों में क्या इस तरह की सुविधा है कि वह थ्री डिजिट के रेट भी डिस्प्ले कर सके? लोगों के साथ कोई धोखाधड़ी तो नहीं होगी?

इस तरह की तमाम समस्याओं का निवारण करने के लिए दिल्ली के पेट्रोल पंप मालिकों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं, जिससे कि अगर दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर पहुंचे तो किसी पेट्रोल पंप से लोगों को तेल मिलने में कोई परेशानी ना होने पाए।

दिल्ली में भी कुछ मशीनें हैं पुरानी, हो सकती है दिक्कत

इस मामले में ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स असोसिएशन के अध्यक्ष अजय बंसल का कहना है कि दिल्ली में तीनों कंपनियों के 398 पेट्रोल पंप हैं। वैसे, अधिकतर में नई मशीनें लगी हुई हैं, लेकिन कुछ पंपों पर पेट्रोल की कीमतें थ्री डिजिट में पहुंचने पर समस्या सामने आ सकती है। इनमें सबसे बड़ी समस्या होगी तेल की कीमतों का मशीनों में ठीक से डिस्प्ले ना होना।

हालांकि, जिन पंपों पर नई डिजिटल डिस्पेंसर लगे हैं। वहां यह समस्या नहीं आएगी, लेकिन जिन पंपों पर पुरानी मशीनें लगी हुई हैं। वहां तेल की कीमतें थ्री डिजिट में पहुंचने पर कुछ समस्या आ सकती है। क्योंकि पुरानी मशीनों में कीमतों के लिए चार ब्लॉक दिए गए हैं। इनमें पहले दो ब्लॉक में रुपये डिस्प्ले होते हैं और बाद में दो ब्लॉक में पैसे।

अब अगर कीमतें थ्री डिजिट में पहुंच गईं तो पहले तीन ब्लॉक हमें रुपयों के लिए रिजर्व करने पड़ेंगे और अंतिम चौथा ब्लॉक पैसे का होगा। ऐसे में थोड़ी प्रॉब्लम आ सकती है। लेकिन कीमतों की वजह से डिस्पेंसर काम करना बंद देंगे, ऐसा नहीं होगा।

दिल्ली में अभी क्या हैं हालात?

दिल्ली पेट्रोल डीलर्स असोसिएशन के जॉइंट सेक्रेटरी बिबेक बनर्जी ने बताया कि उन्होंने तो अपने पेट्रोल पंप पर इसका ट्रायल करके भी देखा है। ताकि पहले ही इस बात का पता लग जाए कि अगर कीमतें थ्री डिजिट में पहुंचती हैं तो किस तरह की समस्या सामने तो नहीं आ सकती है। इसमें उन्होंने एक तेल डिस्पेंसर में तेल की कीमतें 160 रुपये प्रति लीटर करके तेल निकाला। ट्रायल में तो कहीं कोई दिक्कत नहीं आई। तेल का एक वैरियंट अभी भी 160 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। इसका दूसरी मशीन पर ट्रायल किया गया।

दिल्ली के अधिकतर पेट्रोल पंप हैं तैयार!

बनर्जी का कहना है कि हो सकता है कि कुछ पेट्रोल पंपों पर लगी पुरानी मशीनों में कुछ दिक्कतें सामने आ जाएं, लेकिन बड़े स्तर पर दिल्ली के पेट्रोल पंप तेल की कीमतें थ्री डिजिट में भी आने पर इसके लिए तैयार हैं। इसके लिए प्रत्येक पेट्रोल पंप पर हाथ से लिखकर तेल की आज की कीमतों का बोर्ड भी लगाया जाएगा। इसमें रेट के साथ डेट भी लिखी होगी, ताकि कस्टमर को किसी तरह का कोई डाउट ना रहे।