Kisan Credit Card योजना को पूरा हुआ एक साल, जानें इसके फीचर्स और कितने लोगों को मिला फायदा

Webvarta Desk: पिछले साल 29 फरवरी को पीएम मोदी (PM Modi) ने किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) अभियान की शुरुआत (KCC Drive) की थी। यानी फरवरी महीने के आखिरी दिन, जो इस बार आज यानी 28 फरवरी को है।

किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) अभियान के तहत अब तक 1.82 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए जा चुके हैं। इसकी सूचना खुद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने ट्विटर के जरिए दी है।

उन्होंने (Nirmala Sitharaman) बताया कि इसके तहत किसानों को बिना कोलेटरल के ही लोन दिया जाता है। अब तो किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) महज 15 दिन में ही पाने की सहूलियत दी जा रही है। किसान क्रेडिट कार्ड पर लिए गए लोन पर 3 लाख रुपये तक पर कोई सर्विस चार्ज भी नहीं लगता है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया ये ट्वीट

महज 4 फीसदी ब्याज पर लोन

किसान क्रेडिट कार्ड के तहत किसानों को महज 4 फीसदी के ब्याज पर लोन दिया जाता है। लाखों लोगों को इसका फायदा दिया जा चुका है और बहुत से लोगों को ये फायदा दिया जाना बाकी है। इसके तहत आपको पहले 7 फीसदी की दर से ब्याज जमा करना होता है, लेकिन समय से भुगतान करने पर सरकार की तरफ से 3 फीसदी ब्याज वापस मिल जाता है। यानी आपके लिए लोन पर सिर्फ 4 फीसदी ब्याज लगा।

किसे मिल सकता है इसका फायदा

भारतीय स्टेट बैंक की वेबसाइट के मुताबिक इसका फायदा व्यक्तिगत भूमि मालिक तो उठा ही सकते हैं, साथ ही संयुक्त तौर पर खेती करने वाले भी इसका फायदा उठा सकते हैं। साथ ही जो लोग किराए पर खेत लेकर खेती करते हैं, उन्हें भी इसका फायदा मिल सकता है। स्वयं सहायता समूह भी केसीसी प्राप्त कर सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आपको आवेदन पत्र के साथ पहचान पत्र और पते की प्रूफ लगाना होता है। इसके लिए वोटर आईडी कार्ड या पैन कार्ड या पासपोर्ट या आधार कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस कोई भी दस्तावेज इस्तेमाल किया जा सकता है।