Gold Price: लगातर महंगे हो रहे सोने के दाम में आई गिरावट, जानें कितना हुआ सस्ता

New Delhi: लगातार तेजी दिखाने के बाद आज सोने (Gold Price Today) की कीमतों में गिरावट (Gold price fall) आई है। सोमवार शाम 54,946 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ 5 अक्टूबर की डिलीवरी वाला सोना आज सुबह 54,750 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर खुला। यानी आज सोने की कीमतों में 196 रुपये की गिरावट आई है।

बाजार खुलने के चंद मिनटों में ही सोने (Gold price) ने 54,571 का निम्नतम स्तर छू लिया, जबकि उच्चतम स्तर 54,750 से ऊपर नहीं बढ़ सका। सोने में लगातार आ रही तेजी और कोरोना वायरस (Coronavirus impact on gold) के चलते सुरक्षित निवेश का ठिकाना होने के चलते इसमें खूब निवेश हो रहा है। आज की गिरावट की सबसे बड़ी वजह मुनाफावसूली हो सकती है।

वायदा बाजार में कल क्या था सोने का हाल

मजबूत हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने ताजा सौदों की लिवाली की जिससे वायदा बाजार में सोमवार को सोना 171 रुपये (Gold price) की तेजी के साथ 54,960 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर महीने में डिलीवरी सोना अनुबंध की कीमत 171 रुपये यानी 0.31 प्रतिशत की तेजी के साथ 54,960 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गई।

इसमें 16,346 लॉट के लिये कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों की ताजा लिवाली से सोने की कीमतों में तेजी आई। अंतरराष्ट्रीय बाजार, न्यूयॉर्क में सोना 0.65 प्रतिशत की तेजी के साथ 2,041.20 डॉलर प्रति औंस हो गया।

सर्राफा बाजार में क्या था हाल

दिल्ली सर्राफा बाजार में सोमवार को सोना 238 रुपये और सुधर कर 56,122 रुपये प्रति 10 ग्राम (Gold price) हो गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी। पिछला भाव 55,884 रुपये प्रति 10 ग्राम था। चांदी भी 960 रुपये की तेजी के साथ 76,520 रुपये प्रति किलोग्राम हो गयी जो पिछले कारोबारी सत्र में 75,560 रुपये प्रति किलो पर बंद हुई थी। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा, ‘‘रुपये में सुधार आने के कारण सोने में तेजी पर कुछ अंकुश्स लगा रहा।’’

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के उपाध्यक्ष (जींस अनुसंधान) नवनीत दमानी ने कहा कि अमेरिका-चीन के गहराते तनाव और कोविड19 हालात के चलते सोने और चांदी को निवेश की सुरक्षित जगह माना जा रहा है। यही कारण है इनमें जोरदार तेजी है। पिछले सप्ता हर रोज सोने का भाव तेजी पर रहा। उनका मानना है कि निकट भविष्य में घरेलू बाजार में सोना घट-बढ़ कर 54,700-55,400 रुपये के बीच और विश्व बाजार में 2025-2050 डालर प्रति औंस के बीच रहेगा।

दिवाली तक 70 हजारी हो सकता है सोना

पिछले 16 दिनों से लगातार सोने की कीमत में तेजी दर्ज की जा रही है। राजधानी दिल्ली में सर्राफा बाजार में यह 57 हजार के स्तर को क्रॉस कर चुका है। वहीं इंटरनेशनल मार्केट में सोने का भाव 2000 डॉलर को क्रॉस कर लगातार आगे की ओर बढ़ रहा है। चांदी की कीमत 77 हजार पार कर बहुत तेजी से 80 हजार की ओर बढ़ रही है।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि दिवाली तक सोने का भाव नया रेकॉर्ड बनाएगा। वहीं जेपी मॉर्गन का कहना है कि वर्तमान में आर्थिक, महामारी और राजनीतिक हालात के मद्देनजर इसकी पूरी संभावना है कि सोना 70 हजार के स्तर को दिवाली तक छू जाए। उनका कहना है कि अगर कोरोना वैक्सीन आ भी जाती है तो भी ग्लोबल इकॉनमी में सुधार में अभी काफी समय है। तब तक सोने की कीमत में तेजी दर्ज की जाएगी।

मुसीबत की घड़ी में हमेशा बढ़ी है सोने की चमक!

सोना हमेशा ही मुसीबत की घड़ी में खूब चमका है। 1979 में कई युद्ध हुए और उस साल सोना करीब 120 फीसदी उछला था। अभी हाल ही में 2014 में सीरिया पर अमेरिका का खतरा मंडरा रहा था तो भी सोने के दाम आसमान छूने लगे थे। हालांकि, बाद में यह अपने पुराने स्तर पर आ गया। जब ईरान से अमेरिका का तनाव बढ़ा या फिर जब चीन-अमेरिका के बीच ट्रेड वॉर की स्थिति बनी, तब भी सोने की कीमत बढ़ी।

सोने का आयात 94 प्रतिशत घटा

देश में सोने का आयात चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 94 प्रतिशत घटकर 68.8 करोड़ डॉलर या 5,160 करोड़ रुपये पर आ गया। वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों में यह जानकारी मिली है। सोना आयात देश के चालू खाते के घाटे (कैड) को प्रभावित करता है।

कोविड-19 महामारी की वजह से सोने की मांग में गिरावट आई है, जिससे सोने का आयात भी नीचे आ गया है। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में पीली धातु का आयात 11.5 अरब डॉलर या 86,250 करोड़ रुपये रहा था। इसी तरह आलोच्य तिमाही के दौरन चांदी का आयात भी 45 प्रतिशत घटकर 57.5 करोड़ डॉलर या 4,300 करोड़ रुपये रह गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *