zomato delivery

Covid19 : ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो 520 कर्मचारियों की छंटनी करेगी

नई दिल्ली। प्रमुख ऑनलाइन खाद्य वितरण जोमैटो ने अपने 13 फीसदी यानी कुल 520 कर्मचारियों को छंटनी करने की घोषणा की है। इसके अलावा कंपनी ने कहा है कि वह शेष कर्मचारियों के वेतन में 50 फीसदी की कटौती करेगा, क्योंकि Covid-19 महामारी ने उसके व्यवसाय को बुरी तरह से प्रभावित किया है।

हालांकि जोमैटो ने छंटनी के शिकार हुए कर्मचारियों को सीधे निकालने के बजाय उन्हें कर्मचारियों को आधी सैलरी और स्वास्थ्य बीमा का लाभ अगले छह महीने के लिए अथवा जब तक उन्हें अगली नौकरी नहीं मिलती है या जो भी पहले हो, देगी। यही नहीं, कंपनी कर्मचारियों के लिए नई नौकरी तलाशने में भी मदद देगी।

गौरतलब है यह दूसरी बार है जब पिछले एक साल में जोमैटो ने कर्मचारियों की छंटनी की है। गत सितंबर 2019 में भी कंपनी ने अपनी ग्राहक सहायता टीम की 10 फीसदी यानी करीब 540 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया था।

सभी Zomato कर्मचारियों को संबोधित एक ईमेल में बताई गई वजह

सभी Zomato कर्मचारियों को संबोधित एक ईमेल में कंपनी के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपिंदर गोयल ने कहा है कि बड़ी संख्या में रेस्तरां पहले ही स्थायी रूप से बंद हो गए हैं और हम जानते हैं कि महामारी से पैदा हुई समस्या वास्तविक रूप में काफी बड़ी है।

6-12 महीनों में 25-40 फीसदी तक सिकुड़ जाएगी रेस्तरां की संख्या

उन्होंने कहा, मुझे उम्मीद है कि वर्तमान परिस्थितियों में रेस्तरां की संख्या अगले 6-12 महीनों में 25-40 फीसदी तक सिकुड़ जाएगी। वास्तव में आगे बेहतर या बदतर क्या होता है, यह कोई भी अनुमान कर सकता है।

उच्च वेतन वालों की सैलरी में 50 फीसदी कटौती का प्रस्ताव

गोयल ने आगे कहा कि जून से पूरा संगठन वेतन में अस्थायी कमी लाने का काम करेगा। एक आधिकारिक पोस्ट में गोयल ने कहा, “कम वेतन वाले लोगों के लिए कम कटौती और उच्च वेतन वाले लोगों के लिए उच्च कटौती (50 फीसदी तक) प्रस्तावित की जा रही है। उन्होंने कहा कि वेतन में यह अस्थायी कमी भी 2X कर्मचारी स्टॉक अनुदान के लिए पात्र होगी।

कंपनी ने कहा, जितना संभव हो सके हम उतनी नकदी का संरक्षण करें

बकौल गोयल, अगर कारोबारी माहौल खराब होता है या साल भर या उससे अधिक समय तक ऐसा ही बना रहता है, तो तूफान का सामना करने के लिए हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि जितना संभव हो सके हम उतनी नकदी का संरक्षण करें।

लॉकडाउन में ज़ोमैटो ने ग्रोसरी डिलीवरी के बिजनेस में प्रवेश किया

पिछले कुछ महीनों में ज़ोमैटो और उसकी प्रतिद्वंद्वी स्विगी ने किराने के सामानों की डिलीवरी के बिजनेस में प्रवेश किया है और शराब की होम डिलीवरी के लिए राज्य सरकारों के साथ बातचीत भी की है।

जल्द ज़ोमैटो कंज्यूमर-फेसिंग पिक अप और ड्रॉप सर्विस भी लॉन्च करेगी

रिपोर्ट कहती है कि जल्द ज़ोमैटो कंज्यूमर-फेसिंग पिक अप और ड्रॉप सर्विस भी लॉन्च करने की तैयारी कर रही है, जो कि उसकी प्रतिद्वंद्वी स्विगी की जिनी सेवा का एक प्रतिरूप है। यही नहीं, खाद्य वितरण ऐप अपने प्लेटफार्मों के बाहर के व्यवसायों के लिए अपनी रसद सेवाओं का विस्तार करने के अवसर तलाश रहा है।

स्विगी के कम से कम 1,000 कर्मचारियों की नौकरी पर मंडराया खतरा

गत माह प्रतिद्वंद्वी स्विगी ने कहा कि वह Covid -19 महामारी के चलते अपने कुछ केंद्रों पर परिचालन बंद करते हुए अपनी निजी ब्रांड रसोई टीम का एक हिस्सा बंद रखेगी। सूत्रों ने बताया कि यह स्विगी के निजी ब्रांडों के कारोबार में कम से कम 1,000 नौकरियों को प्रभावित करता है। यही नहीं, कंपनी के एक बड़े डाउनसाइज़िंग ड्राइव के परिणामस्वरूप स्विगी में कई और लोगों नौकरी खतरे में आ सकती है।

पिछले कुछ महीनों में कई ऑनलाइन कंपनियों ने छंटनी का ऐलान किया

पिछले कुछ महीनों में Oyo, Curefit, Udaan, BlackBuck, Treebo, Acko, Fab Hotels, Meesho, Shuttl, Capillary, Niki.ai और Fareportal सहित कई इंटरनेट व्यवसायों ने अस्थायी कर्मचारियों सहित अपने कर्मचारियों की संख्या में कटौती की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *