कोयला सचिव ने की Neyveli Uttar Pradesh Power Limited के प्रगति की समीक्षा

Neyveli Uttar Pradesh Power Limited
कानपुर/ नई दिल्ली। कानपुर ग्रामीण क्षेत्र के घाटमपुर तहसील में लगने वाले 660 मेगावाट के नवेली पावर प्रोजेक्ट (Neyveli Uttar Pradesh Power Limited) की प्रगति की समीक्षा के लिए केंद्रीय कोयला एवं खनन सचिव अनिल कुमार जैन ने दौरा किया। इस मौके पर कोयला सचिव ने एनयूपीपीएल परियोजना (Neyveli Uttar Pradesh Power Limited) के गेट परिसर का भी उद्घाटन किया।

Shri_Anil_Kumar_inaugurates_NUPPL_gate_complex_project

पावर प्रोजेक्ट की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि, पावर हाउस (Neyveli Uttar Pradesh Power Limited) में बनने वाली अधिकतर बिजली के उत्पादन को प्रदेश के कार्यों में ही उपयोग में लाने की प्रतिबद्धता होगी। योजना के मुताबिक 660 मेगावाट की पहली यूनिट का काम 52 महीनों में किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, दूसरी यूनिट 58 महीनों में तो तीसरी यूनिट का काम 64 महीनों के बाद पूरा करने का लक्ष्य लिया गया है।

Neyveli Uttar Pradesh Power Limited 1

इस अवसर पर ए के तिवारी, भारत सरकार के अतिरिक्त सचिव, कोयला मंत्रालय, राकेश कुमार, सीएमडी, सेंथिल पांडियन, आईएएस, एमडी, यूपीआरवीयूएनएल, शाजी जॉन, निदेशक और सीईओ, मोहन रेड्डी उपस्थित थे। इसके आलावा सांसद देवेंद्र सिंह भोले, घाटमपुर के विधायक उपेंद्र नाथ पासवान, कानपुर नगर के डीएम आलोक तिवारी, और एसडीएम अरुण कुमार ने शीर्ष प्रबंधन से बातचीत कर परियोजना (Neyveli Uttar Pradesh Power Limited)से संबंधित स्थानीय मुद्दों के बारे में वगत कराया।

कुल 1980 मेगावट का प्रोजेक्ट (Neyveli Uttar Pradesh Power Limited)

कानपुर से 60 किलोमीटर दूर स्थित 660 मेगावाट की तीन यूनिट इस प्रोजेक्ट के तहत लगायी जानी है और इस पावर हाउस से कुल 1980 मेगावाट का पावर जनरेशन किया जाना है। योजना के मुताबिक 660 मेगावाट की पहली यूनिट का काम 52 महीनों में किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। दूसरी यूनिट 58 महीनों में तो तीसरी यूनिट का काम 64 महीनों के बाद पूरा करने का लक्ष्य लिया गया है।