कोरोनाकाल में सरकार से नाराज पायलट बोले- हमसे टिशू पेपर की तरह बर्ताव न करें

New Delhi: वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) के तहत दुनिया भर में फंसे भारतीयों को स्वदेश ला रहे एअर इंडिया के पायलटों (Air India Pilot) ने वेतन गणना को लेकर नागरिक उड्ड्यन मंत्रालय से नाराजगी जताई है।

रिपोर्ट के मुताबिक मंत्रालय ने एअर इंडिया प्रबंधन को पत्र लिखकर कहा है कि पायलटों (Air India Pilot) को वेतन उनके विमान उड़ाने के वास्तविक घंटे के आधार पर दिया जाए।

इंडिया टुडे टीवी से बात करते हुए एक पायलट ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि एअर इंडिया प्रबंधन उनका मजाक उड़ा रही है। इस पायलट ने कहा, “अब तक सरकार हमें कोविड वॉरियर्स बताती रही है, हमें कहा जा रहा है कि हम देश के लिए शानदार काम कर रहे हैं, जबकि दूसरी ओर हमारे साथ जो व्यवहार किया जा रहा है वो शर्मनाक है।”

इस्तेमाल किए हुए टिशू पेपर की तरह बर्ताव न करें

एक दूसरे पायलट ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि सरकार का यह प्रस्ताव हमें हतोत्साहित करता है, हम प्रबंधन को कहना चाहते हैं कि वह हमसे इस्तेमाल किए हुए टिशू पेपर की तरह बर्ताव न करें।

4 जून को एक आंतरिक पत्र में पायलटों के संगठन ने कहा कोरोना संक्रमण के दौर में हम अपनी चुनौतियों और मुश्किलों के बारे में सरकार को बता रहे हैं, अभी काम करना हमारे लिए दिमागी रूप से और शारीरिक रूप से बेहद चुनौतीपूर्ण है। हमारे कई पायलट कोरोना पाॉजिटिव हो रहे हैं। हमने प्रबंधन से मांग की है कि मार्च महीने का अलाउंस हमारे लिए जल्द से जल्द जारी किया जाए, इसके अलावा कुछ कुछ पायलट जो शर्ते पूरी नहीं कर पाएं हैं उन्हें भी राहत दी जाए।

…तब हम काम करने की स्थिति में नहीं होंगे

इंडियन कमर्शियल पायलट एसोसिएशन ने 31 मई को प्रबंधन को कठोर शब्दों में एक पत्र लिखकर कहा, “सर आप भी इस बात को स्वीकार करेंगे कि वंदे भारत मिशन के तहत हम राष्ट्रीय कर्तव्य की भावना से काम कर रहे हैं, लेकिन इस दौरान क्रू के साथ जो व्यवहार किया जा रहा है वो ठीक नहीं है। हम इस व्यवहार की निंदा करते हैं और अगर इतिहास अपने आप को दोहराता है कि तो हम जरूरी फ्लाइट को छोड़कर और कोई भी फ्लाइट उड़ाने की स्थिति में नहीं होंगे।

एअर इंडिया का टिप्पणी से इनकार

एअर इंडिया के अधिकारियों ने इस मामले में किसी तरह की टिप्पणी से इनकार किया है और कहा है कि एयरलाइंस आंतरिक मामलों पर किसी तरह की टिप्पणी नहीं करता है।

केबिन क्रू भी नाखुश

एअर इंडिया का केबिन क्रू भी मौजूदा हालात से खुश नजर नहीं आ रहा है। केबिन क्रू के सदस्यों का आरोप है कि उनके बीमा को लेकर कोई स्पष्टता नहीं है और पीपीई किट पहनने के बावजूद क्रू मेंबर कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं। पिछले दिनों में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *