27.1 C
New Delhi
Wednesday, September 28, 2022

Adani की कंपनियों का कमाल, 3 साल में 1000% से ज्यादा बढ़ा समूह का मार्केट कैप

वेबवार्ता: भारत व एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति गौतम अडानी (Gautam Adani) की संपत्ति पिछले दो-तीन साल के दौरान तेजी से बढ़ी है। गौतम अडानी की नेटवर्थ (Gautam Adani Networth) में इस शानदार ग्रोथ के पीछे अडानी समूह की लिस्टेड कंपनियों (Adani Group Listed Companies) के शेयरों में आई तेजी है।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि पिछले तीन साल के दौरान अडानी समूह की लिस्टेड कंपनियों का एमकैप (Adani Group Companies MCap) 1000 फीसदी से ज्यादा बढ़ा है। इन कंपनियों के शेयरों में पिछले तीन साल के दौरान 500 फीसदी से लेकर 5,100 फीसदी तक की उछाल आई है।

अडानी की इस कंपनी में सबसे ज्यादा तेजी

आंकड़ों के अनुसार, पिछले तीन साल के दौरान अडानी समूह (Adani Group Companies MCap) की सातों लिस्टेड कंपनियों का सम्मिलित बाजार पूंजीकरण करीब 1,120 फीसदी बढ़ा है। अडानी समूह की कंपनियों में अडानी ग्रीन एनर्जी ने इस दौरान सबसे शानदार परफॉर्म किया है। 19 अगस्त 2019 को इस कंपनी के एक शेयर की वैल्यू महज 46।32 रुपये थी।

तीन साल बाद यानी 19 अगस्त 2022 को इसके एक शेयर का भाव चढ़कर 2,411 रुपये पर पहुंच गया। इसका मतलब हुआ कि इन तीन सालों के दौरान अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयरों का भाव (Adani Green Energy Share Price) और एमकैप (Adani Green Energy MCap) 5,102 फीसदी बढ़ा।

ऐसे बढ़ा अडानी की कंपनियों का एमकैप

समूह की अन्य लिस्टेड कंपनियों की बात करें तो बीते तीन साल के दौरान अडानी एंटरप्राइजेज का एमकैप (Adani Enterprises MCap) 2,208 फीसदी, अडानी टोटल गैस का एमकैप (Adani Total Gas MCap) 2,115 फीसदी, अडानी ट्रांसमिशन का एमकैप (Adani Transmission MCap) 1,559 फीसदी, अडानी पावर का एमकैप (Adani Power MCap) 584 फीसदी और अडानी पोर्ट का एमकैप (Adani Ports MCap) 144 फीसदी बढ़ा है।

समूह की सबसे नई लिस्टेड कंपनी अडानी विल्मर के स्टॉक (Adani Wlmar Stock) ने भी बाजार में बढ़िया परफॉर्म किया है। फरवरी 2022 में बाजार में उतरने के बाद अब तक इसका एमकैप (Adani Wilmar MCap) 219 फीसदी बढ़ चुका है। अडानी विल्मर के आईपीओ का इश्यू प्राइस महज 230 रुपये था। इसका शेयर बीएसई और एनएसई पर 08 फरवरी 2022 को लिस्ट हुआ था।

ब्रोकरेज हाउस दे रहे शानदार रेटिंग

वेल्थ मिल्स सिक्योरिटीज के इक्विटी स्ट्रेटजिस्ट Kranthi Bathini अडानी समूह की कंपनियों के शेयरों में तेजी को लेकर बताते हैं, ‘अडानी समूह की कंपनियों का जो बिजनेस मॉडल है, आर्थिक माहौल उसके अनुकूल रहा है। यही कारण है कि अडानी समूह की कंपनियों के शेयर मोमेंटम के हिसाब से लगातार छलांग लगा रहे हैं।’ इस परफॉर्मेंस के कारण कई ब्रोकरेज हाउस अडानी समूह की कंपनियों के स्टॉक पर सकारात्मक रुख अपनाए हुए हैं। सेंट्रम ब्रोकिंग ने अडानी पोर्ट को पॉजिटिव रेटिंग के साथ 920 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है। वहीं केआर चोकसी शेयर्स एंड सिक्योरिटीज ने अडानी विल्मर को 751 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है।

सिर्फ एक कंपनी का एमकैप 01 लाख करोड़ से कम

अडानी विल्मर को छोड़ दें तो पहले से लिस्टेड अडानी समूह की सभी कंपनियों का एमकैप 1।50 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा है। अडानी पावर हाल ही में 1,58,481।62 लाख करोड़ रुपये के एमकैप के साथ बीएसई पर लिस्टेड 36वीं सबसे बड़ी कंपनी बन गई है। इसने सरकारी कंपनी एनटीपीसी को पीछे छोड़ा है, जिसका एमकैप 1,53,013।39 करोड़ रुपये है।

अडानी समूह की अन्य कंपनियों अडानी ट्रांसमिशन लिमिटेड (Adani Transmission Ltd), अडानी टोटल गैस लिमिटेड (Adani Total Gas Ltd), अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (Adani Green Energy Ltd), अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (Adani Enterprises Ltd), अडानी पोर्ट एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड (Adani Ports And Special Economic Zone Ltd) का एमकैप पहले से ही 1।50 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा है। अभी अडानी समूह की अडानी विल्मर (Adani Wilmar) अकेली ऐसी लिस्टेड कंपनी है, जिसका एमकैप 01 लाख करोड़ रुपये से कम है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,125FollowersFollow

Latest Articles