देश के सरकारी बैंकों का हाल.. 12 में 5 बैंकों का शेयर फेस वैल्यू पर कर रहा संघर्ष

New Delhi: कोरोना काल में इकॉनमी (Eeconomy) की हालत पस्त है, लेकिन शेयर बाजार (Share Market) उछाल भर रहा है। मार्च-अप्रैल के अपने न्यूनतम स्तर से यह 50 फीसदी तक उछल कर 40 हजार के जा पहुंचा है।

हालांकि देश के सरकारी बैंकों (Govt Bank) के शेयर का हाल काफी खराब है। 12 सार्वजनिक बैंकों (Public Sector Banks) में से पांच के शेयर फैस वैल्यू के आस-पास चल रहे हैं। एक विश्लेषण में यह पता चला है।

सेंसेक्स 40500 पार पहुंचा

इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank) का शेयर 10 रुपये प्रति शेयर के फैस वैल्यू से नीचे चलर रहा है। बीएसई में शुक्रवार को बैंक का शेयर 9.27 रुपये पर बंद हुआ, जबकि मुख्य सूचकांक सेंसेक्स 40,509 पर बंद हुआ था।

चेन्नै स्थित इस बैंक ने बाजार में सितंबर 2000 में सरकार की हिस्सेदारी बेचकर 10 रुपये प्रति शेयर पर कारोबार की शुरुआत की थी। इसी तरह चार अन्य सार्वजनिक बैंक ‘बैंक ऑफ महाराष्ट्र, यूको बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के शेयर 10 रुपये के फैस वैल्यू के आस पास हैं।

ये रहे शेयर के लेटेस्ट भाव

शुक्रवार को पंजाब ऐंड सिंध बैंक का शेयर 10.81 रुपये, बैंक ऑफ महाराष्ट्र का शेयर 11.29 रुपये, मुंबई स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का शेयर 12.14 रुपये और कोलकाता स्थित यूको बैंक का शेयर 12.45 रुपये पर बंद हुआ था।

रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के मुख्य परिचालन अधिकारी गुरप्रीत सिदाना ने कहा, “हमने पिछले कुछ महीनों में बेंचमार्क में उल्लेखनीय सुधार देखा है, लेकिन पीएसयू बैंकिंग समूह अभी भी संघर्ष कर रहा है। शुरुआती तेजी के बाद, ज्यादातर पीएसयू बैंकिंग शेयर फिर से 52 सप्ताह के अपने निचले स्तर की ओर लुढ़कने लगे हैं।’

बैंकों में सरकार का शेयर 90 फीसदी से ज्यादा

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र पर परिसंपत्ति की गुणवत्ता, कारोबारी माहौल में गिरावट और कर्ज के कम उठाव से जुड़ी चिंताएं हावी हैं। एक अन्य विश्लेषक ने कहा कि अधिकांश सरकारी बैंकों में 90 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी सरकार की है, जिससे निवेशकों के पास इन बैंकों के शेयरों में कारोबार के कम मौके उपलब्ध होते हैं।

इस तरह है सरकार की हिस्सेदारी

इंडियन ओवरसीज बैंक में सरकार की हिस्सेदारी सर्वाधिक 95.84 फीसदी है। इसके बाद यूको बैंक में 94.44 फीसदी, बैंक ऑफ महाराष्ट्र में 93.33 फीसदी और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में 92.39 फीसदी सरकारी हिस्सेदारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *