1 अगस्त से बदल जाएंगे ये 10 नियम, जानें किन-किन चीजों में हो रहा बदलाव

New Delhi: 1 अगस्त से कई नियम बदलने (10 Rules Changing From 1st August 2020) जा रहे हैं। साथ ही कई ऐसे काम भी हैं जिन्हें 31 जुलाई से पहले निपटा लेना जरुरी है। इसके अलावा कई नियम हैं जो 1 अगस्त से लागू होने जा रहे हैं।

1 अगस्त से बदलने वाले नियम (10 Rules Changing From 1st August 2020) और 31 जुलाई तक निपटारे वाली बातों जरुर को जरुर जान लें.. ताकि जानकारी के अभाव में आपको कोई नुकसान न उठाना पड़े।

कार-बाइक के बीमा से जुड़े नियम

1 अगस्त 2020 से से कार-बाइक के बीमा से जुड़े नियमों (Car Bikes Insurance Rules) में बदलाव हो रहा है। भारतीय बीमा नियामक व विकास प्राधिकरण (इरडा) ने इस बारे में नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। अगर आप नई गाड़ी खरीदने की सोच रहे हैं तो फिर 1 अगस्त तक इंतजार कर लें क्योंकि इसका लाभ आपको मिलेगा।

नए नियम के अनुसार (New Insurance Rules of Car Bikes) आपको गाड़ी के बीमा पर फिलहाल खर्च होने वाली बड़ी राशि से निजात मिल जाएगी। इरडा ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा है कि 1 अगस्त 2020 से नए चार पहिया व दो पहिया वाहनों के लिए लिया जाने वाला थर्ड पार्टी और Own damage बीमा, जो 3 से पांच साल के लिए लेना होता था, उसकी किसी तरह से कोई जरूरत नहीं होगी।

मिनिमम बैलेंस

मिनिमम बैलेंस को लेकर एक अगस्त से नियम (Minimum Balance Rules) बदलने जा रहे हैं। ऐक्सिस बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, कोटक महिंद्रा बैंक, आरबीएल बैंक एक अगस्त से ट्रांजैक्शन के नियमों में बदलाव करने जा रहे हैं। इनमें से कुछ बैंक कैश निकालने और जमा करने पर फीस वसूलेंगे तो कई मिनिमम बैलेंस बढ़ाने की तैयारी में है।

मिनिमम बैलेंस (What is Minimum Balance) वह रकम होती है जो आपको खाते में मेनटेन करनी पड़ती है। खाते में इससे कम अमाउंट होने पर पेनाल्‍टी लगती है।

पीएम किसान की दूसरी किस्त

एक अगस्त से पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojna) के तहत दूसरी किस्त जमा होगी। पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi Yojna) जिसे पीएम किसान योजना भी कहते हैं, इसके तहत देश के हर रजिस्टर्ड किसान के खाते में एक साल में 2000-2000 रुपये करके 6000 रुपये जमा किए जाते हैं।

साल 2020 की पहली किस्त अप्रैल महीने में आई थी। यह दूसरी किस्त (PM Kisan Yojna 2 Installment) होगी। सरकार ने योजना की शुरुआत से लेकर अब तक देश के 9.85 करोड़ किसानों को नकद लाभ पहुंचाया है। योजना का लाभ डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए सीधे अकाउंट में पहुंचाया जाता है।

ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए नए नियम

ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए 1अगस्त से नियमों (E-Commerce Company Rules) में बदलाव होने जा रहे हैं। अब सभी ई-कॉमर्स कंपनियों को बताना होगा कि उनकी वेबसाइट पर लिस्टेड प्रॉडक्ट कहां बना है।

नया नियम (New Rules for E-Commerce Company) भारत या विदेश में पंजीकृत लेकिन भारतीय ग्राहकों को सामान और सेवांए देने वाले सभी इलेक्ट्रॉनिक खुदरा विक्रेताओं पर लागू होगा।

नए नियमों के अनुसार ई-कॉमर्स कंपनियों (New Rules for E-Commerce Sites) को बिक्री के लिए रखे गये सामानों और सेवाओं की कुल कीमत के साथ अन्य शुल्कों का पूरा ब्योरा देना होगा। साथ ही उन्हें यह भी बताना होगा कि वस्तु की मियाद कब समाप्त होगी यानी यानी उसकी ‘एक्सपायरी’ तारीख क्या है।

RBL बैंक के नियम बदलेंगे

RBL ने हाल में सेविंग खाते पर ब्याज दरों में बदलाव (RBL Bank Rules Changed) किया है। इसके अलावा कई ऐसे चार्जेज और बदलाव (New Rules of RBL Bank) हैं जो एक अगस्त से लागू हो रही हैं। डेबिट कार्ड दोबारा इश्यू करवाना पर लॉस्ट केस में 200 रुपये और डैमेज केस में 100 रुपये लगेंगे।

अब टाइटेनियम डेबिट कार्ड के लिए सालाना 250 रुपये देने होंगे। इसके अलावा मेट्रो, अर्बन, सेमी-अर्बन और रूरल कस्टमर्स को एक महीने में केवल पांच फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन की सुविधा मिलेगी। सभी चार्जेज GST हटा कर हैं।

LPG गैस की कीमत में बदलाव

1 अगस्त से कुकिंग गैस की कीमत (LPG Gas Price) में बदलाव होगा। पिछले दो महीने से कीमत में लगातार तेजी आई है। ऐसे में तीसरे महीने में यह तेजी कायम रहेगी या नहीं यह देखना होगा।

बता दें कि देश की ऑयल मार्केटिंग कंपनियां हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी गैस सिलिंडर की कीमत (LPG Gas Cylinder Price) में बदलाव करती हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमत में रोजाना बदलाव होता है।

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट

कोरोना संकट (Coronavirus Pandemic) के बीच सरकार (Modi Govt) ने ऐलान किया था कि 25 मार्च 2020 से 30 जून 2020 के दौरान जो बालिका 10 वर्ष की हुई है, उन्हें 31 जुलाई तक सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana – SSY) में खाता खुलवाने का मौका है।

गरीब या निम्न मध्यम वर्गीय परिवार में बेटी (Govt Scheme for Girls) को बोझ नहीं समझे, इसलिए इस योजना (Sukanya Samriddhi Yojana – SSY) की शुरूआत की गई थी। इस योजना में हर तिमाही में समीक्षा होती है। अभी इस पर 7.6 फीसदी का ब्याज दिया जा रहा है।

PPF पर पेनाल्टी खत्म

लॉकडाउन (Lockdown) के बीच डाक विभाग (Indian Postal Department) ने PPF सहित छोटी बचत स्‍कीमों में तय अवधि के अंदर न्यूनतम राशि न डाल पाने पर पेनाल्टी खत्‍म (No penalty, Revival fees for PPF RD and other small savings schemes) कर दी थी।

पब्लिक प्रविडेंट फंड, रेकरिंग डिपॉजिट जैसी स्‍कीमों में बिना पेनाल्‍टी के 31 जुलाई तक न्‍यूनतम राशि डाली जा सकती है। पहले यह तारीख 30 जून तक थी, जिसे बढ़ाकर 31 जुलाई तक कर दिया गया था।

2019-20 के लिए इन्वेस्टमेंट दिखाने का आखिरी मौका

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (CBDT) ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए पीपीएफ, एनपीएस और सुकन्या समृद्धि योजना (PPF, NPS, Sukanya Samriddhi Yojana) के अंतर्गत टैक्स सेविंग इन्वेस्टमेंट के तहत इन्वेस्टमेंट करने की तारीख को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया था।

अगर आपने अभी तक नहीं किया है तो तुरंत कर लें। CBDT ने 80डी के तहत मेडिक्लेम, 80जी के तहत डोनेशन इन्वेस्टमेंट दिखाने का समय भी 31 जुलाई तक बढ़ाया है।

वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 31 जुलाई तक मौका

वित्त वर्ष 2018-19 के लिए मूल और साथ ही संशोधित आयकर रिटर्न (Income Tax Return Filling Last Date) दाखिल करने की समय सीमा 31 जुलाई, 2020 को समाप्त हो रही है। इसलिए समय रहने तक यह काम कर लें।

इसके अलावा वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 80सी (LIC,PPF, NSC), 80डी (मेडिक्लेम), 80 जी (दान) के तहत इनकम टैक्स में कटौती का दावा करने के लिए विभिन्न निवेश/भुगतान करने की समय सीमा 31 जुलाई, 2020 है। अगस्त के महीने में इसे करने का मौका नहीं मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *