zoom app

सावधान : जूम एप लगा रहा है आपकी सुरक्षा में सेंध…

-योगेश कुमार सोनी-Yogesh Kumar Soni

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप जूम को बैन करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई है। इस मामले की सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र सरकार से एक महीने में जवाब मांगा है। इसके अलावा जूम वीडियो कम्यूनिकेशन को भी तलब किया गया है। दरअसल मामला यह है कि मौजूदा वक्त में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए जूम एप का बहुत प्रयोग हो रहा है और लॉकडाउन में तो इसको अधिक संख्या में डाउनलोड किया गया है। बीते महीने अप्रैल में ही इसके तेरह करोड़ से भी ज्यादा और यूजर्स बढ़े हैं।

यदि हमारे देश के परिवेश की बात करें तो लॉकडाउन में तेजी से प्रयोग होने वाले इस ऐप पर सिक्योरिटी को लेकर सवाल खडे होने शुरु हो गए। पिछले दिनों सरकार ने भी डाटा सिक्यॉरिटी के खतरे को देखते हुए इस ऐप को डाउनलोड करने के लिए मना किया था। लेकिन इसके बाद भी इसके यूजर्स की संख्या में बढ़ोतरी लगातार जारी है। कुछ दिनों पूर्व जूम ने भी इस बात को माना था कि उसके प्लेटफॉर्म से हिन्दुस्तान में इस एप के प्रयोग करने वालों का डाटा लीक हो रहा है। इसके अलावा एक अन्य जांच एजेंसी ने भी दावा किया है कि पांच लाख से ज्यादा जूम ऐप का प्रयोग करने वालों का डाटा हैक करके बेहद सस्ते दामों में बेचा गया है।

अब सभी के मन के में प्रश्न यही है कि यदि हमारा सिस्टम इस तरह के एपों की खतरे की घंटी भाप चुका है तो इसको तुरंत प्रभाव के साथ प्रतिबंध करने में क्या समस्या है? क्या इस तरह के केस कोर्ट में जाना सही हैं? जब प्रमाणिकता के साथ किसी घटना का पता चल रहा है तो उस पर सरकार एक्शन लेकर इस तरह के एपों को बैन कर दे। आपको जानकारी होगी भारत में ऐसे कई तरह के एप हैं जो आपका निजी डेटा चुराने का काम करते हैं। विगत दिनों गूगल ने इस तरह के जासूसी करने वाले करीब आठ सौ से अधिक एपों को प्ले स्टोर से हटाया है।

स्मार्ट फोन का प्रयोग करना आज एक जरुरत है और मजबूरी भी जिसमें हमारी दुनिया से जुडे कई काम अब मोबाइल से ही होते हैं लेकिन कई बार हम लोग बिना वजह के एप को भी डाउनलोड कर लेते हैं जिससे हैकर्स हमारी डिटेल आसानी से चुरा लेते हैं। बहरहाल, जूम एप को प्रयोग बडे स्तर पर हो रहा है। सबसे ज्यादा प्रयोग इसका प्रोफेशनल व ऑफिस मीटिंग के प्रयोग किया जा रहा है और अब साथ ही इसके लोगों ने परिवार व रिश्तेदारों के साथ बात करना शुरु कर दिया चूंकि इस एप में एक बारी में अधिक लोग एक बारी में जुड जाते हैं। जैसा कि सबसे ज्यादा प्रयोग करने वाले फेसबुक व व्हाट्स एप पर एक बार विडियो कॉल पर केवल चार लोग ही जुड पाते हैं लेकिन इसमें कई लोग एक साथ बात कर सकते हैं।

हैकर्स द्वारा कई तरह होने वाले नुकसान के उदाहरण हमें लगातार देखने को मिल रहे हैं। हैकर्स का डेटा हैक करके कई तरह का दुरुपयोग करते हैं। इस बार हैकर्स ने ऐसा तरीका निकाला है जिससे पैसा मांगने वाले को भी नही पता चल रहा कि उसने किसी से उधार भी लिया है। हैकर्स किसी भी एप से चुराई डिटेल से आपकी फेसबुक आईडी को हैक करके आपसे जुडे किसी साथी से गूगल-पे, पेटीएम या अन्य किसी भी वॉलेट में पैसे मांगने के लिए कहते हैं।

हैकर्स आपकी आईडी पर इतनी रिसर्च कर चुका होता है कि उसको भलिभांति पता होता है कि किससे पैसे मांगने है और किससे नही। दरअसल इस घटना को लेकर सबसे बड़ा दुर्भाग्य यह कि इस मामलें में पुलिस बहुत ज्यादा कुछ कर नही पाती। लाखों में किसी एक केस में ही आरोपी पकडे जाते हैं और वो भी कोई हाई-प्रोफाइल केस होता है तब। और शायद यही कारण है कि हैकर्स के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि वो ऐसे फ्रॉड करने से कतई भी नही कतराते।

साइबर एक्सपर्ट्स के अनुसार कई तरह से फेसबुक आईडी हैक हो सकती है लेकिन आजकल सबसे ज्यादा आसान तरीका है यह है जो लोग इस तरह के एपों पर क्लिक जैसे कि ‘आप पिछले जन्म क्या थे’ व ‘आपकी शक्ल किस सेलेब्रिटि से मिलती है’ या अन्य विडियो या चैट करने वाले एप, जिनको हम उनके विज्ञापन देखकर डाउनलोड कर लेते हैं। इस तरह के एप के लिंक पर क्लिक व डाउनलोड करते ही ही आपकी सारी डिटेल ऐसे प्लेटफॉम पर आ जाती है जिससे हैकर्स अपने तरीके से देख लेते हैं।

दरअसल ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले करने वाले अलग-अलग तरीके से धोखा करते रहते हैं और जैसे ही लोग इनके तरीके से वाकिफ होते हैं तब तक यह एक और ऐसा तरीका निकाल लेते हैं कि जिसमें लोग आसानी से इनके झासे में आ जाते है। आज के हाईटैक दौर में लोगों को हर सुविधा का फायदा चाहिए लेकिन किसी भी एप को डाउनलोड करने से पहले उसकी गुणवत्ता को जांच लें और कोर्ट व सरकार के किसी निर्णय या आदेश आने से पहले जूम जैसे एप को अपने मोबाइल से हटा दें जिससे आपका डाटा हैक न हो। इसके अलावा ऐसे मामलों से यह भी तय हो जाता है कि बिना वजह के एप डाउनलोड न करें जिससे आपकी सुरक्षा को खतरा न हो।

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार है)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *