C
New Delhi, IN
Sunday, January 21, 2018

राजनीति

संवैधानिक संस्थाओं की गरिमा से खेल क्यों?

-प्रभुनाथ शुक्ल- देश की सर्वोच्च अदालत इन दिनों सुर्खियों में है। पिछले दिनों चार न्यायाधीशों ने मीडिया में अपनी बात क्या रखी भूचाल गया। संवैधानिक...

जातियों पर रोटी सेंकते राजनीति दल

-डॉक्टर नंद किशोर गर्ग- पुणे के पास भीमा कोरेगांव में जातीय हिंसा के बहाने देश में एक बार फिर विव्देष की राजनीति करने वाले इसमें...

राजद के लिए आसान नहीं ‘राज’ की राह

लालू यादव अब कैदी हैं। करोड़ों रूपये के चारा घोटाला में वे मुजरिम हैं। सजायाफ्ता हैं। उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अब कठिन...

मुस्लिम समाज का नेतृत्व संकट

-सलमान खुर्शीद- पिछले पांच वर्षों में देश में धीरे-धीरे जिस तरह से सांप्रदायिक ताकतों का उभार बढ़ा है, उससे देश के मूलभूत सिद्धांतों को तो...

आम आदमी पार्टी ने अपनी संभावनाओं को खुद डकार लिया है

-जावेद अनीस- इस देश की राजनीति में बदलाव चाहने वालों के लिये “आम आदमी पार्टी” का सफर निराश करने वाला है हालांकि इसका एक दूसरा...

इस साल कुछ तो दिलचस्प होगा ही सियासत का खेल

-उमेश चतुर्वेदी- जो लोग आज भी सियासत के आजमाए हुए सूत्रों और हिट फॉर्म्युलों से भारतीय राजनीति को आंकने की कोशिश कर रहे हैं, उन्हें...

हरियाणा जाट आरक्षण : गई भैंस पानी में

-जग मोहन ठाकन- हरियाणा में जाट आरक्षण का मामला फिर खटाई में पड़ता लग रहा है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के निर्देशानुसार हरियाणा सरकार...

दक्षिण में रजनीकांत के सियासी आगाज के मायने

-रमेश ठाकुर- अटकलें और कयास तो सालों से लगाए जा रहे थे कि दक्षिण का थलाइवर यानि राजा कब सियासत में आकर लुंगी डांस करेगा।...

गुजरात का संदेश क्या?

-अजित द्विवेदी- गुजरात का विधानसभा चुनाव राष्ट्रीय महत्व का था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की प्रतिष्ठा इस चुनाव में दांव पर...

राहुल गांधी को स्थापित कर गया गुजरात चुनाव

-तनवीर जाफरी- गुजरात व हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने अपना विजय अभियान जारी रखते हुए जहां हिमाचल प्रदेश की सत्ता कांग्रेस से छीनकर...
Translate »