व्यापार में माल एवं सेवाओं के मुक्त आवागमन के पक्ष में अमेरिका : केनेथे आई जस्टर

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (वेबवार्ता)। अमेरिका ने सोमवार को कहा कि वह वस्तुओं, सेवाओं, पूंजी और आंकड़ों की मुक्त आवाजाही के पक्ष में है। अमेरिका ने इसके साथ ही यह भी कहा कि आगे बढ़ता चीन, आतंकवाद का मुकाबला और आर्थिक वृद्धि को बढ़ाना भारत के समक्ष बडी चुनौतियां हैं। यह बात ऐसे समय कही गयी है जब दोनों देश मुक्त व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं।

 भारत में अमेरिका के राजदूत केनेथे आई जस्टर ने सेरावीक के इंडिया एनर्जी फोरम में कहा कि भारत-अमेरिका संबंधों में उतार-चढ़ाव आते रहे हैं लेकिन दोनों देशों ने रिश्तों को मजबूत बनाने में उल्लेखनीय प्रगति की है। उन्होंने कहा कि अमेरिका और भारत के बीच व्यापार 2018 में 142 अरब डॉलर पर पहुंच गया है लेकिन दोनों के बीच आर्थिक भागीदारी के पूर्ण क्षमता के अनुरूप पहुंचना अभी बाकी है। राजदूत ने कहा, ‘‘हमें पूरा भरोसा है कि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री गोयल (पीयूष गोयल) और व्यापार प्रतिनिधि लाइथाइजर मतभेदों को दूर करने का प्रयास करेंगे। हमारा मानना है कि खुली भारतीय अर्थव्यवस्था से भारतीयों के लिये और रोजगार सृजित होंगे, भारत को वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में एकीकृत होने में मदद मिलेगी, आर्थिक वृद्धि में तेजी आएगी तथा हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भारत निवेश के लिये एक आकर्षक गंतव्य के रूप में उभरेगा…।’’

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने न्यूयार्क में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बैठक के दौरान दोनों देश उम्मीद के अनुरूप व्यापार समझौते की घोषणा नहीं कर पाये। इसका कारण कुछ मुद्दों को लेकर मतभेद का होना है। अमेरिका चाहता है कि स्टेंट जैसे चिकित्सा उपकरणों, सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) उत्पादों तथा डेयरी उत्पादों की भारतीय बाजार तक पहुंच आसान हो। वहीं भारत निष्पक्ष और जवाबदेह व्यापार समझौते को लेकर गंभीर है। इसके तहत वह सुरक्षित बाजार पहुंच के साथ अमेरिका द्वारा उठाये गये व्यापार घाटे के मामले का समाधान करना चाहता है। अमेरिकी राजदूत के अनुसार अगले दशक में भारत के समक्ष कुछ चुनौतियां होंगी। इसमें बढ़ते चीन से निपटना, आतंकवाद से निपटना, सैन्य बल का आधुनिकीकरण, आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देना तथा ऊर्जा की सुरक्षित आपूर्ति सुनिश्चित करना शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *