नोटबंदी के बाद लागू हुई सिक्काबंदी, 3 दिन से सिक्कों का उत्पादन बंद

0
23

मुंबई, 11 जनवरी (वेबवार्ता)। चार सरकारी छापाखानों ने बाजार में सिक्के की अधिकता तथा भंडारण के लिए जगह की कमी का हवाला देते हुए सिक्कों का उत्पादन बंद कर दिया है। सरकारी सूत्रों ने बताया कि कोलकाता, मुंबई, नोएडा और हैदराबाद स्थित छापाखानों ने यह बंद किया है। छापाखानों का संचालन करने वाली सार्वजनिक कंपनी सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने कल एक निर्देश में कहा था कि प्रचलन वाले सिक्कों का उत्पादन तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है। उसमें कहा गया था कि छापाखानों में बिना ओवरटाइम के कार्य के सामान्य घंटों में काम होता रहेगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 8 जनवरी से सभी चारों सिक्का छापाखानों में सिक्कों का उत्पादन बंद कर दिया गया है। छापाखानों की यूनियन ने चारों इकाइयों के जनरल मैनेजरों को नोटिस भेजकर सिक्का उत्पादन बंद करने के लिए कहा है। सूत्रों के मुताबिक सरकार के सिक्का भंडार में करीब 250 करोड़ सिक्के अभी पड़े हुए हैं और रिजर्व बैंक की तरफ से उठाव का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि रिजर्व बैंक ने साफ कर दिया है कि सिक्कों का उत्पादन रुखने के बावजूद इनके सर्कुलेशन में किसी तरह की कमी नहीं आएगी क्योंकि अर्थव्यवस्था में पर्याप्त मात्रा में सिक्के मौजूद हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here