शेयर बाजार की कोई भी कंपनी पीडब्लूसी से नहीं करा सकेगी ऑडिटिंग, सेबी ने लगाया 2 साल का प्रतिबंध

0
21

नई दिल्ली, 11 जनवरी (वेबवार्ता)। शेयर बाजार में लिस्ट कंपनियों में से कोई भी कंपनी ग्लोबल ऑडिटिंग संस्था प्राइस वॉटरहाउस कूपर्स (पीडब्लूसी) से अपने खातों की ऑडिटिंग नहीं करा सकेगी। सेबी ने पीडब्लूसी पर लिस्टेड कंपनियों के खातों की ऑडिटिंग के लिए 2 साल तक की रोक लगा दी है। सेबी ने यह फैसला 8000 करोड़ रुपए के सत्यम घोटाले में पीडब्लूसी का नाम आने के बाद सुनाया है। पीडब्लूसी पर यह प्रतिबंध अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगा।

सेबी ने पीडब्लूसी पर इसके अलावा 13.09 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगाया है और जनवरी 2009 से लेकर अबतक इस जुर्माने पर 12 प्रतिशत सालाना की दर से ब्याज देने के लिए भी कहा है। यह प्रतिबंध अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगा लेकिन इस साल मार्च अंत तक इसका असर नहीं पड़ेगा। सेबी ने इसके अलावा पीडब्लूसी के दो पुराने पार्टनर्स एस गोपालकृष्णन और श्रीनिवास तल्लौरी पर भी 3 साल का प्रतिबंध लगाया है। इन दोनो का नाम सत्यम घोटाले से जोड़कर देखा जाता है। जब 2009 में सत्यम घोटाला उजागर हुआ था तो उस समय इन दोनो ने ही सत्यम के खातों की ऑडिटिंग की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here