समुद्र की दुनिया पसंद है तो मर्चेंट नेवी में जाएं

0
56

समुद्र की दुनिया, धरती की दुनिया की तरह ही बहुत सुंदर है। जरूरत है तो इसे देखने और महसूस करने की। यदि आप समुद्री दुनिया के इर्द-गिर्द रहना चाहते हैं? अगर आपको विदेशों की सैर करने का शौक है, तो निश्चित तौर पर आपके लिए मर्चेंट नेवी में कॅरियर बनाना मददगार साबित हो सकती है।

इसे कहते हैं मर्चेंट नेवी:- मर्चेंट नेवी दरअसल एक विषय है जिसके अंतर्गत यात्री जहाज, मालवाहक जहाज, तेल और रेफ्रिजरेटेड जहाज आते हैं। इन जहाजों के संचालन के लिए एक तकनीकी रूप से ट्रेंड टीम की जरूरत होती है, जिसमें क्रू मेंबर तक शामिल होते हैं। जहाज में काम करने वाले प्रोफेशनल्स जहाज के संचालन, तकनीकी रखरखाव और यात्रियों को कई प्रकार की सेवाएं देते हैं। इनकी विशेष ट्रेनिंग मेहनत से भरी होती है।

मर्चेंट नेवी ऐसा क्षेत्र है, जहां आप समुद्र के रास्ते सुनहरे भविष्य के लिए कदम बढ़ा सकते हैं। मर्चेंट नेवी (व्यापारिक जहाजरानी) व्यापारिक जहाजों के जरिए सामान लाने-ले जाने वाली सेवा है। वर्तमान में मैरीन इंजीनियरिंग में बूम की स्थिति है। भारत के अलावा नार्वे, जापान, ग्रीस, फ्रांस, ब्रिटेन और सिंगापुर की बड़ी शिपिंग कंपनियों में हमेशा ही मैरीन इंजीनियरों की भारी मांग बनी रहती है और भारत से होने वाले व्यापार विनिमय में भारी उछाल को देखते हुए आगे भी यही स्थिति बनी रहेगी।

आवश्यक योग्यता:- समुद्री इंजिनियरिंग में बीएससी की डिग्री हासिल करने के बाद मर्चेंट नेवी में जा सकते हैं। अगर आपने 12वीं में विज्ञान विषयों जैसे भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित के साथ प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की है, तो आप किसी जहाज में डेक कैडेट के रूप में प्रवेश ले सकते हैं।

यहां आप तीन साल तक काम करते हुए प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं। नेविगेटिंग ऑफिसर या नौ-संचालन अधिकारी के रूप में नियुक्ति के लिए प्रशिक्षण के बाद भूतल परिवहन मंत्रलय द्वारा ली जाने वाली दक्षता परीक्षा उत्तीर्ण करना आवश्यक होता है। इसके अलावा उम्मीदवारों को शारीरिक और मानसिक रूप से भी फिट होना चाहिए। नेविगेशन का प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद कैप्टन श्रेणी के अधिकारी के रूप में नियुक्ति होती है।

वेतन:- शुरूआत में आपको 10 से 15 हजार रुपए प्रतिमाह, लेकिन अनुभव बढऩे के साथ-साथ वेतन में बढ़ोत्तरी होती रहती है। पद और अनुभव के साथ 10-15 लाख रुपए महीना भी कमा सकते हैं।

शैक्षणिक योग्यता:- विज्ञान विषयों के साथ 10+2 पास छात्र जेईई के माध्यम से कोर्स कर सकते हैं। कुछ कोर्सेज के लिए 10वीं पास होना आवश्यक है। अधिकतम आयु सीमा 20 वर्ष सामान्य और 25 वर्ष एससी व एसटी के लिए है।

यहां भी ग़ौर करें:- जहाजरानी महानिदेशालय, जहाज भवन, बालचंद-हीराचंद मार्ग, बलार्ड एस्टेट, मुंबई तथा मरीन इंजिनियरिंग रिसर्च इंस्टिटय़ूट ताराटोला रोड, कोलकाता के अलावा शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की वेबसाइट और इग्नू की वेबसाइट पर आप इस विषय के बारे में और अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं।

यहां से करें अध्ययन:-

-लाल बहादुर शास्त्री कॉलेज ऑफ अडवांस मरीन टाइम स्टडीज ऐंड रिसर्च, मुंबई
-ट्रेनिंग शिप चाणक्य, नवी मुंबई
-मरीन इंजिनियरिंग ऐंड रिसर्च संस्थान, कोलकाता
-इंडियन मेरिटाइम यूनिवर्सिटी, चेन्नई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here