अगले साल एशियाई-राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतना लक्ष्य: सायना

0
73

नई दिल्ली, 20 दिसंबर (वेबवार्ता)। पूर्व ओलम्पिक कांस्य पदक विजेता सायना नेहवाल ने कहा है कि इस समय वह मैचों से ज्यादा अपनी फिटनेस पर ध्यान दे रही हैं ताकि अगले साल होने वाले एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीत सकें।

सायना को पिछले साल रियो ओलम्पिक की निराशा के बाद घुटने की सर्जरी से भी गुजरना पड़ा था, लेकिन प्रतिभाशाली इस खिलाड़ी ने कमाल की वापसी की और गत माह नवंबर में नागपुर में ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु को पराजित कर राष्ट्रीय चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था।

सायना ने यहां प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के 23 दिसंबर से शुरु होने वाले तीसरे संस्करण के उद्घाटन कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा कि मेरा अगला लक्ष्य एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतना है, इसके लिए मैं शत-प्रतिशत फिट रहना चाहती हूं। मेरे लिए यह लीग एक सामान्य टूर्नामेंट है और मैं इसमें अपना स्वभाविक खेल खेलूंगी।

2012 के लंदन ओलंपिक पदक विजेता सायना ने नौ साल बाद जाकर गत माह नवंबर में राष्ट्रीय चैंपियनशिप का खिताब जीता था। उन्होंने इस वर्ष मलेशिया मास्टर्स का भी खिताब अपने नाम किया था। सायना 2010 में दिल्ली में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में उपविजेता रही थीं।

पूर्व नंबर एक सायना ने कहा कि मैं मैच से ज्यादा अपनी फिटनेस को प्राथमिकता दे रही हूं। कई टूर्नामेंट में ऐसा हुआ है कि मेरे फिटनेस का असर मेरे खेल पर पड़ा है। अगले वर्ष बहुत सारे मैच होने हैं और इसके लिए खुद को पूरे सत्र में फिट रखना काफी चुनौतीपूर्ण काम है। अगर आप शतप्रतिशत फिट रहते हैं तो किसी भी टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।

सायना ने पीबीएल लीग के तीसरे संस्करण को लेकर कहा कि टूर्नामेंट में इस बार आठ टीमें हिस्सा ले रही है इसलिए आपको मानसिक और शारीरिक रूप से भी तैयार रहना होगा। उन्होंने कहा कि लीग में ओलंपिक चैंपियन स्पेन की कैरोलिना मारिन और इस साल चार सुपर सीरीज खिताब जीत चुके किदांबी श्रीकांत सहित कई विश्व स्तरीय खिलाड़ी खेल रहे हैं और इनसे कड़े मुकाबले होने की उम्मीद है।

सायना अवध वॉरियर्स टीम का हिस्सा है जिसका पहला मुकाबला 23 दिसंबर को विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता पीवी सिंधु के चेन्नई स्मैशर्स से होगा। सायना ने राष्ट्रीय चैंपियनशिप में भसधू को हराकर ही खिताब जीता था और ऐसे में उनके पास एक मनोवैज्ञानिक बढ़त होगी।

पूर्व नंबर एक सायना ने कहा कि टीमों और खिलाडियों के बढने से लीग का तीसरा संस्करण काफी रोमांचक हो गया है। इसमें सारे अच्छे और मजबूत खिलाड़ी खेल रहे हैं, इसलिए किसी भी टीम को हल्के में नहीं आंका जा सकता है। चेन्नई में भसधू के अलावा और कई भी कई अच्छे खिलाड़ी हैं लेकिन मुझे लगता है कि हमें अपने पिछले मुकाबलों को भूलकर नए मुकाबलों के लिए तैयार रहना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here