इन आसान टिप्स से ब्लॉक कर सकते हैं स्पैम ईमेल

0
51

इंटरनेट की दुनिया में डाटा चोरी करने के लिए स्पैम व फिशिंग जैसी तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। जिसके माध्यम से यूजर की व्यक्तिगत एवं गोपनीय जानकारी जैसे बैंक खाता नंबर, नेट बैंकिंग पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड संख्या, व्यक्तिगत पहचान विवरण आदि हैक किया जा सके। किंतु यदि आप थोड़े से जागरूक रहें तो इस प्रकार के ईमेल को पहचान सकते हैं साथ ही इनसे अपना डाटा हैक होने से भी बचा सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों व जानकारियों को ध्यान में रखना जरूरी है।

आजकल हम अपने अधिकतर कार्यों के लिए इंटरनेट का उपयोग करते हैं फिर चाहें वह पैसे का भुगतान हो या​ फिर बैंक संबंधी कोई अन्य जानकारी। ऐसे में आपका निजी डाटा ईमेल पर सेव हो जाता है और हैकर्स की नजर अक्सर ऐसी चीजों पर रहती है जहां से आपके डाटा का चुरा सकें, जिसका इस्तेमाल गलत कार्यों के लिए भी किया जा सकता है। ऐसे में यदि आप स्पैम व फिशिंग ईमेल को पहचान कर उनके प्रति सचेत रहते हैं तो अपनी निजी जानकारी सुरक्षित रख सकते हैं। आगे हम फिशिंग और स्पैम ईमेल से सुरिक्षत रहने के कुछ उपाय रहे हैं।

स्पैम ईमेल को ब्लॉक करने के अपनाएं ये आसान टिप्स :

  1. अपने जीमेल अकाउंट को ओपन करने के बाद आपको वहां सर्च बटन के पास एक ऐरो का साइन दिखाई देगा, जो कि ई-मेल सर्च बटन के बाईं ओर दिखाई देगा। आप इस पर क्लिक करें।

  1. इसके बाद, एक छोटी सी विंडो एक फॉर्म सेक्शन के साथ दिखाई देगी। इसमें आपको उस ई-मेल आईडी का उल्लेख करना होगा जिसे आप ब्लॉक करना चाहते हैं।

  1. इसके लिए एक फिल्टर ऑप्शन क्रिएट करें, जो फॉर्म के दाईं ओर कोने पर फॉर्म के नीचे दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें और डिलीट कर दें।

  1. अगर आप क्रिएट फिल्टर पर क्लिक करते हैं तो वो सभी मेल होंगे जो आपकी आईडी पर आते हैं और सीधे ट्रैश होल्डर में चले जाएंगे। इसके बाद ये खुद-ब-खुद 30 दिनों के भीतर डिलीट हो जाएंगे। बहुत सारी स्पैम खुद-ब-खुद पहचान ली जाती हैं और स्पैम फोल्डर में पहुँचा दी जाती हैं और यहाँ पर ये तीस दिनों के बाद डिलीट हो जाती हैं।

  1. यदि आप अपने इनबॉक्स में कोई ऐसा मेसेज पाते हैं, जो आप को स्पैम लगता है, तो इस के सामने स्थित बॉक्स पर चेक करें और फिर ऊपरी टूल बार में स्थित “रिपोर्ट स्पैम” बटन पर क्लिक करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here