अवैध शराब के खिलाफ आवाज उठाने वाली महिला का स्वागत

0
47

नई दिल्ली, 13 दिसंबर (वेबवार्ता)। दिल्ली में शराब और शराब माफिया के खिलाफ एक जनयुद्ध शुरू हो गया है और यह तब तक नहीं रुकेगा जब तक शराब का यह अवैध व्यापार बंद नहीं हो जाता। उन्होंने कहा कि शराब माफिया को अब सावधान हो जाना चाहिए। दिल्ली महिला आयोग इस अवैध गोरखधंधे पर लगाम लगाएगा। यह बातें दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति जय हिन्द ने शराबबंदी के खिलाफ नरेला में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कही।

मंगलवार को नरेला शराब कांड की पीड़िता को अस्पताल से छुट्टी मिल गयी। उस बहादुर महिला के साथ एकजुटता दिखाने और उस को अस्पताल से घर छोड़ने के लिए पूरी दिल्ली से सैंकड़ों गाड़ियां और हजारों की संख्या में महिलाएं राजघाट पर एकत्र हुईं। वहां पर आयोग की चेयरपर्सन स्वाति जय हिन्द और आयोग की अन्य सदस्य, पीडित महिला प्रवीण के साथ हजारों पुरूष व महिलाओं के साथ पहले राजघाट स्थित बापू की समाधि पर गयीं और वहां प्रार्थना की। उसके बाद गाड़ियां और सैकड़ों लोग काफिले के रूप में प्रवीण को छोड़ने नरेला तक गए। नरेला में बड़ी संख्या में लोग घरों से बाहर निकल कर आये और महिला आयोग की अध्यक्ष और वालंटियर प्रवीण का स्वागत किया।

चेयरपर्सन स्वाति ने कहा कि जिन लोगों ने प्रवीण पर हमला किया था उनकी अभी तक गिरफ्तारी नही हो पाई है और पुलिस को उनको तुरंत गिरफ्तार करना चाहिए। वह बोलीं कि पुलिस की बिना मिली भगत के यह अवैध शराब का इतना बड़ा धंधा नहीं चल सकता, और उन्होंने उपराज्यपाल से अपील की इस रैकेट को रोकने के लिए कड़े कदम उठाये जायें।

स्वाति ने लोगों से यह अपील भी की कि वे 9313-181-181 पर मिस्ड कॉल कर के इस मुहिम से जुड़ सकते हैं। साथ ही अवैध शराब और ड्रग्स की शिकायत इस नंबर पर व्हाट्सअप कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सूचना देने वालों की पहचान गुप्त रखी जायेगी। प्रवीण ने कहा कि ड्रग्स और शराब माफिया के खिलाफ उनकी यह लड़ाई जारी रहेगी और वह इसमें दिल्ली महिला आयोग के साथ मिलकर काम करेंगी। उन्होंने बताया कि कैसे शराब माफिया से टक्कर लेने पर उन लोगों के उकसावे में आकर भीड़ ने उन पर अत्याचार किया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने उन पर हमला किया और उनके कपडे फाड़े उनको ही शर्मिंदा होना चाहिए क्योंकि मैंने ऐसा कोई काम नहीं किया है जिससे मुझे शर्मिंदगी महसूस हो।

चेयरपर्सन ने प्रवीण और उनके परिवार के बहादुरी की प्रशंसा की। उन्होंने नरेला थाने के एसएचओ से बात की जिन्होंने यह आश्वासन दिया कि प्रवीण की सुरक्षा अब दिल्ली पुलिस की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि वह प्रवीण से लगातार संपर्क में रहेंगी और स्थिति की लगातार समीक्षा करती रहेंगी।

उधर, सभा में शामिल डीएवी एजुकेशन वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्षा राधा भारद्वाज ने कहा कि प्रवीण ने शराब माफियों के खिलाफ जो आवाज बुलंद की है उसके लिये उसको डीसीडब्लू राज्य स्तर या फिर राष्ट्रीय महिला आयोग राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित कर हौंसला अफजाई करे। राधा ने कहा कि वह इस संबंध में एक-एक पत्र डीसीडब्लू और एनसीडब्लू दोनों को लिखकर आग्रह करेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here