दान करने से होता है कल्याण: प्रकाश महाराज जी

0
46

फरीदाबाद, 10 दिसंबर (वेबवार्ता)। मानव सेवा समिति द्वारा आयोजित श्रीराम कथा के दूसरे दिन महामंडलेश्वर कथा व्यास श्रीस्वामी जगत प्रकाश महाराज जी ने प्रवचन करते हुए बताया कि प्रकट चार पद धर्म के कल में एक प्रधान, एन केन विधि दिने दान करे कल्याण इसका अर्थ बताते हुए उन्होंने कहा कि धर्म के चार तत्व हैं सत्य, तप, दया और दान। कलयुग में ऊपर के तीनों तथ्यों का पालन करना आज मानव के लिए संभव नहीं है। अतः कलयुग में दान ही एक ऐसा माध्यम है जिससे मानव जीवन का कल्याण हो सकता है। इसीलिए सभी को अपने सामर्थ अनुसार जरूरतमंदों की हरसंभव सहायता करनी चाहिए। उन्होंने आगे बताया कि रामकथा एक नोका है जिसमें बैठकर मनुष्य भवसागर से पार हो सकता है।

कथा के दूसरे दिन शिव-पार्वती के विवाह का सुंदर वर्णन व चित्रण बताया व दर्शाया गया। श्रीराम कथा में शहर के कई दानी सज्जन, विशिष्टजन व महिलाओं ने राम कथा का श्रवण किया और श्रीराम कथा के उद्देश्य के अनुरूप समिति द्वारा संचालित प्राथमिक विद्यालय मानव विद्या निकेतन स्कूल बल्लभगढ़ की सहायतार्थ यथासंभव दान दिया। प्रमुख समाजसेवी वी.के. बंसल, सुनीता बंसल, संदीप शर्मा, दुर्गा प्रसाद गोयल, नरेन्द्र ढांगी, अवतार मित्तल, ओ.पी. परमार एडवोकेट ने स्कूल की सहायतार्थ दान देकर समिति की मदद की।

समिति के मुख्य संयोजक कैलाश शर्मा व कार्यक्रम संयोजक रान्तीदेव गुप्ता ने बताया कि यह रामकथा जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा देने हेतु चलाए जा रहे विद्यालय मानव विद्या निकेतन स्कूल, बल्लभगढ़ की सहायतार्थ आयोजित की जा रही है जो 16 दिसम्बर तक प्रतिदिन दोपहर 2.30 बजे से 6.30 बजे तक सेक्टर-9 स्थित सनातन धर्म मंदिर में जारी रहेगी। 17 दिसम्बर को यज्ञ हवन व भण्डारा आयोजित किया जाएगा। श्रीराम कथा के सफल आयोजन में समिति की महिला सेल चेयरमैन ऊषा किरण शर्मा व उनकी टीम रमा सरना, राजराठी, कुसुम कौशिक, अरुणा मित्तल, महिला कीर्तन मंडली सेक्टर-9 के साथ-साथ राजकिशोर गुप्ता, अमर खान, वाई.के. माहेश्वरी, महेश अग्रवाल, जितेन्द्र मेहता आदि का विशेष सहयोग मिल रहा है। समिति ने शहर के दानी सज्जनों व समाजसेवियों से अपील की है कि वे जरूरतमंद बच्चों की मदद के लिए चेरिटी के रूप में आयोजित की जा रही इस रामकथा में अधिक से अधिक दान देकर जरूरतमंद बच्चों की मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here