हमें विज्ञान के विकास, अनुसंधान पर जोर देना होगा: पूर्व राष्ट्रपति मुखर्जी

0
37

नयी दिल्ली, 09 फरवरी (वेबवार्ता)। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने विज्ञान और नवोन्मेष के विकास के लिए अनुसंधान को विशेषकर विश्वविद्यालय स्तर पर प्रोत्साहित करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि भारत में 753 विश्वविद्यालय, 16 आईआईटी, 30 एनआईटी और कई भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान हैं और वे बहुत अच्छा काम कर रहे हैं लेकिन बहुत कुछ किये जाने की जरूरत है।

मुखर्जी ने कहा, हमें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, विज्ञान के विकास पर ध्यान देना चाहिए तथा अनुसंधान पर जोर देना चाहिए। मुखर्जी पूर्व केन्द्रीय मंत्री और इलेक्ट्रानिक्स आयोग के चेयरमैन एम एस संजीवी राव पर आधारित एक पुस्तक के विमोचन पर लोगों को संबोधित कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here