नैनीताल के बारह हजार से ज्यादा किसानों को मिले एक-एक लाख रुपये के ऋण चेक

0
47

देहरादून, 01 जनवरी (वेबवार्ता)। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नैनीताल जिले के बारह हजार से ज्यादा किसानों को 28 करोड 80 लाख रुपये के ऋण के चेक बांटे। दीनदयाल उपाध्याय सहकारिता किसान कल्याण योजना के तहत हल्द्वानी में आयोजित किसान मेले में बांटी गयी एक-एक लाख रुपये की यह धनराशि उन्हें दो प्रतिशत ब्याज दर पर दी गयी है। नैनीताल के 12391 किसानों को आज चेक वितरित किये गये। यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, नये साल की पूर्व संध्या पर बांटी गयी इस धनराशि को पाकर कार्यक्रम में आये किसानों के चेहरे खिल उठे।

मुख्यमंत्री रावत के अलावा कार्यक्रम में मौजूद सहकारिता मंत्री डा0 धनसिंह रावत, परिवहन मंत्री यशपाल आर्य, भाजपा सांसद भगत सिह कोश्यारी एवं विधायक बंशीधर भगत, दीवान सिह बिष्ट, नवीन चन्द्र दुम्का, संजीव आर्य, रामसिह कैडा ने भी किसानों को चेक प्रदान किये। इस मौके पर मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए सजग है और प्रधानमंत्री की परिकल्पना के आधार पर प्रदेश के हर किसान की आय वर्ष 2022 तक दोगुनी करने के लिए प्रयासरत है। दो प्रतिशत के मामूली ब्याज दर पर एक लाख के ऋण को किसानों के लिए संजीवनी बताते हुए उन्होंने कहा कि खेती के अलावा खेती से सम्बन्धित अन्य व्यवसाय अपनाने से किसानों की आय में आशातीत वृद्धि होगी।

उन्होंने कहा कि किसानों को इस धनराशि से मौन पालन, मछली, भेड़, बकरी, कुक्कुट पालन के साथ ही पुष्प उत्पादन, मशरूम, बेमौसमी सब्जी, फल, सगंध पौधा एवं जड़ी-बूटी उत्पादन को भी अपनाना चाहिए। परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों मे कृषि कार्य चुनौती पूर्ण है और सहकारी खेती के माध्यम से जहां किसान अपनी आय बढा सकते हैं, वहीं मौन पालन व मशरूम उत्पादन जैसे व्यवसायों से भी उनकी आय मे वृद्धि हो सकती है।

सहकारिता मंत्री डा0 धनसिंह रावत ने बताया कि किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के लिए प्रत्येक किसान को दो प्रतिशत ब्याज पर प्रारम्भिक तौर पर एक-एक लाख रुपये की धनराशि अल्पकालिक और मध्यकालिक ऋण के रूप मे दी जा रही है। उन्होंने कहा कि भविष्य में ऋण सीमा बढाई जा सकती है।

नैनीताल लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि सबका साथ सबका विकास अवधारणा के साथ केन्द्र एवं प्रदेश सरकार विकास कार्यो को धरातल पर उतारने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि हम कोरी घोषणाओं मे विश्वास नहीं करते हैं। कोश्यारी ने किसानों को शुभकामनायें देते हुये कहा कि वे मिल रही धनराशि का सदुपयोग करें और अपने स्तर पर भी आर्थिक संसाधन विकसित करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here