बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में घायल हुई थी बाघिन, इलाज के दौरान हुई मौत

0
17

भोपाल, 14 फरवरी (वेबवार्ता)। भोपाल के वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में बाँधवगढ़ टाइगर रिजर्व से घायल अवस्था में लाई गई बाघिन की मृत्यु हो गई। आधिकारिक तौर पर आज यहां बताया गया कि बाघिन को जून-2017 में गंभीर अवस्था में रिजर्व के खितौली परिक्षेत्र से वन विहार उपचार के लिये लाया गया था। बाघिन के गले के चारों ओर फंदे के कारण बना काफी गहरा घाव था। गंभीर स्थिति को देखते हुए इसे वन्य-प्राणी चिकित्सालय के इनडोर वार्ड में सतत निगरानी में रखकर उपचार किया जा रहा था।

चिकित्सकों के दल द्वारा उपचार से उसमें सुधार भी दिख रहा था। उसका घाव छह इंच से घटकर एक इंच का रह गया था। वह नियमित खाना भी खाने लगी थी। लेकिन चार फरवरी से उसकी तबियत फिर खराब होने लगी थी। उसने नियमित खाना लेना भी बंद कर दिया था। तमाम कोशिशों के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका। पोस्टमार्टम में गले के घाव से संबंधित कोई संक्रमण नहीं पाया गया। मृत्यु का संभावित कारण ‘रीनल डिसइन्फेक्शन लीडिंग टु टॉक्सीमिया एण्ड रेस्पेटरी फेल्योर’ पाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here