उज्जैन में हुई महाकाल की भस्म आरती, महानदी में श्रद्धालुओं ने किया स्नान

0
28

उज्जैन, 13 फरवरी (वेबवार्ता)। महाशिवरात्रि का त्‍यौहार आज पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है। सुबह से ही शिव भक्त भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए मंदिरों में शिवलिंग पर जल, दूध, बेलपत्र से अभिषेक कर रहे हैं। देश के तमाम शिवालयों को फूल और मालाओं से सजाया गया है। महाशिवरात्रि को भगवान शिव की पूजा करने का सबसे बड़ा दिन माना जा रहा है। पौराणिक मान्यता है कि इस दिन अगर भोलनाथ को खुश कर लिया, तो आपके सभी बिगड़े काम सफल हो जाते हैं। लेकिन इस बार शिवभक्तों को भोलनाथ को खुश करने के दो अवसर मिल रहे हैं, क्योंकि कई स्थानों पर शिवरात्रि दो दिन मनाई जा रही है।

महाकालेश्व मंदिर में महाशिवरात्रि के मौके पर भगवान शिव की भस्मारती की गई। रोजाना की तरह प्रातःकाल मंदिर के कपाट खुलते ही बाबा महाकाल की पुरोहितों ने भस्मारती की। आरती के बाद श्रद्धालुओं ने बाबा के दर्शन किए. महाशिवरात्रि होने के कारण मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ ज्यादा देखने को मिल रही है।यह मंदिर भारत के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। ज्योतिर्लिंग मतलब वह स्थान जहां भगवान शिव ने स्वयं लिंगम स्थापित किए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here