उत्तर प्रदेश अपार संभावनाओं वाला राज्य : स्मृति ईरानी

0
45

लखनऊ, 22 फरवरी (वेबवार्ता)। केंद्रीय वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी ने उत्तर प्रदेश को अपार संभावनाओं वाला राज्य बताते हुये कहा कि केंद्र सरकार ने शिल्पकारो, बुनकरों और वस्त्र उदयोग से जुड़े अन्य उदयमियों के लिये अनेक कल्याणकारी योजनायें प्रारंभ की हैं। सरकार ने ‘इंडिया हैंडलूम ब्रांड’ के तहत बुनकरों के उत्पादों को एक नई पहचान दिलाई है, शिल्पकारों के लिये हैंडीक्राफ्ट नाम की योजना शुरू की है। वाराणसी में 250 करोड़ रूपये की लागत से व्यापार सुविधा केन्द्र खोला है तथा हैंडलूम पर काम करने वालो की बिजली की समस्या को दूर करने के ​लिये पावर टेक्स नामक योजना शुरू की है। उन्होंने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था की बहुत तारीफ की और इसके लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई दी।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018 में केंद्रीय मंत्री ईरानी ने कहा कि ‘इस समिट में करीब सात हजार करोड़ रूपये के एमओयू (समझौता पत्र) पर हस्ताक्षर किये गये और मुझे इस बात की खुशी है कि उत्तर प्रदेश में आज तक पहली बार टेक्सटाइल को लेकर इस प्रकार का चिंतन, मंथन और संवाद हुआ है। कपड़ा क्षेत्र से जुड़े जो लोग यहां आये है उनका मानना है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में टेक्सटाइल इंजन के रूप में काम करेगा, क्योंकि टेक्सटाइल से जुड़ेकई ऐसे उदयोगपति जो दूसरे प्रदेशों में अपना उदयोग कर रहे है वह उत्तर प्रदेश में आकर अपना उदयोग लगाना चाहते है और यहां कपड़ा उद्योग को बढावा देना चाहते है।’

उन्होंने कहा कि हैंडलूम की बात तो सब करते है लेकिन पहली बार हैंडलूम को ब्रांड बनाने का काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। करीब ढाई साल में इंडिया हैंडलूम ब्रांड में उप्र से ही 71 प्रोजेक्ट पंजीकृत हो चुके है। जितने ज्यादा से ज्यादा बुनकर हैंडलूम ब्रांड से जुडेगें उतना ज्यादा फायदा उन्हें होगा और उनके काम को भारतीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार में पहचान मिलेंगी। उन्होंने कहा कि उप्र छोटे शिल्पकारो की हाथ से बनाई गये सामानों को हम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार के साथ जोड़े तो उनको काफी फायदा मिल सकता है। केंद्र सरकार ने पहचान नाम की हैंडीक्राफट स्कीम डेढ़ वर्ष पहले शुरू की थी जिसमें करीब 11 लाख प्रार्थनापत्र आये थे जिसकी जांच पड़ताल के बाद करीब सवा छह लाख शिल्पकारो को पहचान पत्र दिये जा चुके है।

केंद्रीय मंत्री ईरानी ने कहा कि पावरलूम चलाने वाले बुनकरो के लिये सबसे बड़ी समस्या ज्यादा बिजली के बिल की होती है। इसलिये केंद्र सरकार ने बुनकरों के लिये पावरटेक्स योजना की शुरूआत की है जिसके तहत बुनकरो को सोलर इनर्जी सिस्टम लगाने के लिये मदद दी जा रही है। उन्होंने कहा कि बनारस हमारी संस्कृति का एक अभिन्न अंग है इसलिये प्रधानमंत्री ने हाल ही में 250 करोड़ की लागत का ट्रेड फैसिलिटेशन सेंटर का निर्माण किया है। इसी प्रकार कानपुर में निटवियर इंडस्ट्री को एक बार फिर मजबूत करने की दिशा में महत्तवपूर्ण काम किये जा रहे है। ईरानी ने कहा कि अब उप्र में निवेश बहुत तेजी से बढ़ेगा क्योंकि यहां पर अब कानून व्यवस्था का राज है और इसके लिये योगी सरकार को बधाई दूंगी कि उन्होंने प्रदेश में अब जान माल सुरक्षित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here