तीन वर्षीय बच्ची की मौत पर एलएनजेपी अस्पताल में हंगामा

0
33

नई दिल्ली, 14 फरवरी (वेबवार्ता)। लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल (एलएनजेपी) में बुधवार को एक तीन वर्षीय बच्ची की खून की कमी व समय से खून नहीं मिलने के कारण मौत हो गयी। मौत के बाद परिजनों द्वारा काफी हंगामा किया गया। परिजनों ने बच्ची की मौत के लिए डॉक्टरों पर लापरवाही का भी आरोप लगाया।

जानकारी के अनुसार पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा क्षेत्र के निवासी जावेद मलिक की तीन वर्षीय बच्ची को मंगलवार की रात को एलएनजेपी अस्पताल में चाचा नेहरु अस्पताल (बच्चों के लिए) द्वारा रेफर किए जाने के बाद भर्ती कराया गया था। एलएनजेपी अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड के डॉक्टरों ने बच्ची की जांच करने पर उसे तुरंत खून चढ़ाने का फैसला किया। अस्पताल के ब्लड बैंक से खून लाने के लिए डाक्टरों ने एक वार्ड ब्वाय को भेजा। जानकारी के अनुसार वार्ड ब्वाय डेढ़ घण्टे तक खून लेकर नहीं आया। इस बीच बच्ची के परिजनों ने डॉक्टरों से कहा कि वह उन्हें खून लाने के लिए पर्ची लिखकर दें, ताकि वे खून ले आएं, लेकिन डॉक्टरों ने यह कहकर मना कर दिया कि वार्ड ब्वाय को भेजा है, वह खून लेकर आ जाएगा।

जब खून आने में देरी होने लगी तब बच्ची के परिजन वार्ड ब्वाय की तलाश करने लगे। तलाश के दौरान वार्ड ब्वाय अस्पताल के एक हिस्से में बात करते हुए पाया गया। उसे एमरजेंसी वार्ड लाया गया, लेकिन तब तक खून के नहीं चढ़ पाने के कारण बच्ची की मौत हो चुकी थी। बच्ची की मौत पर परिजनों ने वहां हंगामा शुरू कर दिया और डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया। परिजनों का कहना था कि यदि डॉक्टरों ने खून लाने के लिए पर्ची दे दिया होता तो समय पर खून आ जाता और बच्ची की जान बच जाती। इस मामले में कोई एफआईआर दर्ज नहीं हो पाई, क्योंकि मृतक बच्ची के परिजनों ने बच्ची का पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here