जीव से परमात्मा के मिलन का सन्देश देता है महाशिवरात्रि पर्व : राजेश्वरानंद

0
45

नई दिल्ली, 13 फरवरी (वेबवार्ता)। श्रीराजमाता झंडेवाला मन्दिर गोरखपार्क शाहदरा में स्वामी श्री राजेश्वरानंद जी महाराज के सान्निध्य में महाशिवरात्रि पर्व श्रद्धापूर्वक मनाया गया। संस्थान के सहप्रबन्धक राम वोहरा ने बताया कि भोर होने से पहले ही शिवभक्तों ने श्री राजमाता झंडेवाला मन्दिर में शिवलिंग अभिषेक के लिए आना शुरू कर दिया। बेलपत्र, भाँग, फल, फूलमाला व पंचामृत के साथ ओम नमः शिवाय की धूनी के साथ दिनभर जलाभिषेक जारी रहा। रात्रि 8 से 10 बजे तक श्रीराजमाता जी मन्दिर जगतपुरी में जय देवा भजन मण्डल के सदस्यों द्वारा शिव आराधना कार्यक्रम आयोजित किया गया।जिसमें “जय हो भोलेनाथ जय हो भण्डारी” भजन के साथ भक्तजन झूमते रहे।कार्यक्रम की समाप्ति पर शिव आरती व शिव चालीसा का पाठ किया गया।

इस अवसर पर साध संगत को सम्बोधित करते हुए स्वामी श्री राजेश्वरानंद जी महाराज ने कहा कि “पार्वती यानी जीवात्मा, शंकर यानी परमात्मा। परमात्मा से मिलन के बिना जीव का कल्याण सम्भव नहीं है। शिव और जीव के मिलन को सम्भव करवाया नारदजी ने। यानी सदगुरु के मार्गदर्शन में मनुष्य परमानन्द को प्राप्त कर सकता है। पार्वती शिव मिलन में अनेक बाधाएं आई दृढ़निश्चयी होने पर दोनों का मिलन सम्भव हुआ। यानी परीक्षाएं, रुकावट की तरफ ध्यान न देकर लक्ष्य पर ध्यान देने से ही मनुष्य सफलता को प्राप्त कर सकता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here