एकजुट हुए दिल्ली के व्यापारी, बाजार बंदकर निकाली सीलिंग की शवयात्रा

0
30

नई दिल्ली, 13 मार्च (वेबवार्ता)। राजधानी दिल्ली में जारी एमसीडी के सीलिंग अभियान से गुस्साए लाखों व्यापारियों ने मंगलवार को अपनी दुकानें तथा व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद रखा और जगह-जगह धरना-प्रदर्शन किए। सीलिंग के विरोध में दिल्ली के बाजारों में कहीं व्यापारी धरने पर बैठे हैं, कहीं सीलिंग की शवयात्रा निकाल रहे हैं तो कहीं मुंडन कराकर अपना विरोध जता रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ इस मुद्दे को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच जुबानी जंग छिड़ी हुई है।

कन्फैडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने सीलिंग की कार्रवाई को एकतरफा, अन्यायपूर्ण और अवैध बताया है। कैट के जनरल सेक्रेटरी प्रवीण खंडेलवाल ने बताया कि थोक के साथ-साथ खुदरा बाजार भी इस बंद में शामिल हैं और करोलबाग में आर्य समाज रोड पर व्यापारियों की महापंचायत का आयोजन किया गया है। केजरीवाल ने सीलिंग के मसले पर मंगलवार को सर्वदलीय बैठक भी बुलाई है जिसका भाजपा ने बहिष्कार किया है, जबकि दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन इसमें शामिल होंगे।

सीलिंग के विरोध में उत्तम नगर के मोहन गार्डन में भी दुकानदार अपनी दुकानें बंद करके धरने पर बैठे। इसके साथ ही रोजगार बचाओ समिति के तत्वावधान में रघुवरपुरा के व्यापारी भी सड़क पर उतरे। दिल्ली के बेहद पॉश बाजार कनॉट प्लेस स्थित शंकर मार्केट की सभी दुकानें भी इस दौरान पूरी तरह बंद रहीं। इतना ही नहीं, करोल बाग के रेहड़ी-फेरी लगाने वाले भी बंद में शामिल हुए। साथ ही चांदनी चौक, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, खारी बावली, कनॉट प्लेस, गांधी नगर, लक्ष्मी नगर, अशोक विहार, राजौरी गार्डन, लाजपत नगर, ग्रेटर कैलाश, साउथ एक्स, सरोजिनी नगर, कमला नगर, नया बाजार, भागीरथ प्लेस, लाजपतराय माकेर्ट, कश्मीरी गेट, प्रीत विहार, शाहदरा, कृष्णा नगर, जनकपुरी, तिलक नगर आदि बाजार प्रमुख रूप से बंद हैं।

सीलिंग के खिलाफ कैट के अलावा चैम्बर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) ने भी बंद का आह्वान किया है। सीटीआई ने अनोखे अंदाज में विरोध दर्ज कराते हुए कई बाजारों में सीलिंग की शवयात्रा निकाली। सीटीआई ने बताया कि सबसे बड़ी शवयात्रा कश्मीरी गेट मार्केट से शुरू होकर निगम बोध घाट तक गई और वहां सीलिंग का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

सीटीआई का दावा है कि एक हजार से अधिक व्यापारी संगठनों तथा व्यापारियों ने बंद का समर्थन किया है। सीटीआई के मुताबिक, चांदनी चौक, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, खारी बावली, कनॉट प्लेस, गांधी नगर, लक्ष्मी नगर, अशोक विहार, राजौरी गार्डन, लाजपत नगर, ग्रेटर कैलाश, साउथ एक्स, सरोजिनी नगर, कमला नगर, नया बाजार, भागीरथ प्लेस, लाजपत राय माकेर्ट, कश्मीरी गेट, प्रीत विहार, शाहदरा, कृष्णा नगर, जनकपुरी, तिलक नगर, मॉडल टाउन समेत दिल्ली के तमाम छोटे बड़े बाजार बंद हैं।

व्यापारियों के इस विरोध प्रदर्शन के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 16 मार्च से शुरू हो रहे विधानसभा बजट सत्र के पहले दिन ही सीलिंग पर रोक लगाने के लिए बिल पास कर उसे मंजूरी के लिए केंद्र सरकार के पास भेजने की मांग की है।

केजरीवाल ने सीलिंग के मसले पर मंगलवार को सर्वदलीय बैठक भी बुलाई है जिसका भाजपा ने बहिष्कार किया है, जबकि दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन इसमें शामिल होंगे। वहीं, दूसरी तरफ भाजपा-अकाली विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और वहां सीलिंग के लिए केजरीवाल सरकार को आड़े हाथों लिया। दोनों नेताओं ने चुनौती देते हुए कहा है कि अगर 16 मार्च को केजरीवाल सरकार सीलिंग के खिलाफ विधानसभा में बिल पेश नहीं करती तो हम निजी बिल लेकर आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here